Friday , December 15 2017

‘रोगी’ मर रहे हैं और PM मोदी कहते हैं कि ऑपरेशन सफल हुआ: मनीष सिसोदिया

नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी ने प्रधानमंत्री मोदी के इस तर्क पर सवाल उठाया है कि अर्थव्यवस्था एक मजबूत स्तर पर है और उसे एक सर्जन के साथ तुलना करती है जो दावा करता है कि ऑपरेशन सफल रहा है, जब मरीज मृत्यु के कगार पर हैं।

आम आदमी पार्टी के नेता मनीष सिसोदिया ने दावा किया कि प्रधानमंत्री ने कल तथ्यों को गलत तरीके से प्रस्तुत किया जब उन्होंने जीडीपी मंदी पर बात की। वह कंपनी सचिवों के एक समारोह में प्रधानमंत्री के संबोधन की बात कर रहे थे, जहां उन्होंने कहा था कि उनकी सरकार सुधारों को जारी रखेगी और पिछले 2 क्वार्टरों में जीडीपी मंदी की स्थिति को दूर करने के लिए निर्णय लेने में संकोच नहीं करेगी।

हँसते हुए, सिसोदिया ने कहा, “अगर मैं प्रधानमंत्री के भाषण का सारांश देता हूं…आप ऐसे डॉक्टर के रूप में पीठ थपथपा रहे हो जो कहे ऑपरेशन हमने सक्सेसफुल कर दिया लेकिन मरीज़ मर रहा है।”

उन्होंने कहा, “प्रधानमंत्री ने देश के सामने एक आर्थिक तस्वीर पेश करने की कोशिश की, लेकिन यह थोड़ा तथ्यों के साथ काल्पनिक था।”

दिल्ली के वित्त मंत्री श्री सिसोदिया ने कहा है कि प्रधानमंत्री के दावे के विपरीत, पिछले छह तिमाहियों में जीडीपी 9.1 प्रतिशत से घटकर 5.7 फीसदी पर आ गया है। उन्होंने संवाददाताओं से कहा, “उन्होंने या तो आर्थिक संकट के बारे में झूठ बोला या गलत तरीके से तथ्यों को प्रस्तुत किया है।”

प्रधानमंत्री मोदी ने कल अपने आलोचकों की आलोचना की थी कि वे पिछले दो तिमाहियों में मंदी को देख रहे हैं, लेकिन इस तथ्य की अनदेखी कर रहे हैं कि भाजपा सरकार ने यूपीए सरकार में मुद्रास्फीति को 10 प्रतिशत से घटाकर 2.5 प्रतिशत कर दिया, चालू खाता घाटे को करीब 4 प्रतिशत से 1 प्रतिशत, और 4.5 प्रतिशत से राजकोषीय घाटे को 3.5 प्रतिशत कर दिया।

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि सकल घरेलू उत्पाद में एक प्रतिशत की गिरावट ने 10 लाख लोगों को बेरोजगार कर दिया है।

सिसोदिया ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने नौकरी सृजन के बारे में नहीं बताया। नौकरी बाजार कम हो रहा है और इसमें कोई नया निवेश नहीं है।

TOPPOPULARRECENT