CAA के खिलाफ़ जामिया मिलिया प्रदर्शन: मनीष सिसोदिया ने दिल्ली पुलिस पर लाए गंभीर आरोप

CAA के खिलाफ़ जामिया मिलिया प्रदर्शन: मनीष सिसोदिया ने दिल्ली पुलिस पर लाए गंभीर आरोप

नागरिकता बिल संसोधन विवाद ओखला विधानसभा क्षेत्र में रविवार को हुए हिंसक प्रदर्शन को लेकर आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता और दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने भारतीय जनता पार्टी पर निशाना साधा है।

न्यूज़ ट्रैक पर छपी खबर के अनुसार, मनीष सिसोदिया ने एक के बाद एक ट्वीट कर कुछ फोटो शेयर किए और भाजपा पर पुलिसवालों से बसों में आग लगवाने का आरोप लगाया। उन्होंने पूरे मामले की तुरंत निष्पक्ष जांच की मांग की।

जंहा मनीष सिसोदिया ने ट्वीट किया कि चुनाव में हार के डर से भाजपा दिल्ली में आग लगवा रही है। आम आदमी पार्टी किसी भी तरह की हिंसा के खिलाफ है।

वहीं उन्होंने एक वीडियो को शेयर कर कहा कि देखें किस तरह पुलिस के संरक्षण में आग लगवाई जा रही है।

उन्होंने लिखा कि बसों में आग लगने से पहले ये वर्दी वाले लोग पीले और सफेद रंग वाली केन से बसों में क्या डाल रहे हैं? ये किसके इशारे पर किया गया है? उन्होंने पूरी घटना को भाजपा की घटिया राजनीति बताया और भाजपा नेताओं से जवाब मांगा।

सूत्रों की माने तो इस बात पर गौर फ़रमाया गया है वहीं पार्टी से राज्यसभा सदस्य और दिल्ली विधानसभा चुनाव प्रभारी संजय सिंह ने कहा कि आम आदमी पार्टी किसी भी प्रकार के हिंसक आंदोलन का समर्थन नहीं करती है।

सिंह ने कहा कि भाजपा जब-जब चुनाव हारने लगती है तो हिंसा का सहारा लेती है। इससे पहले ट्वीट कर सिंह ने कहा कि लोकतंत्र में हिंसा के लिए कोई स्थान नहीं।

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा कि भाजपा अपनी ओछी राजनीति पर उतर आई है। चुनाव हारने के डर से झूठे आरोप लगाना भाजपाइयों का घटिया तरीका है।

दिल्ली की कानून व्यवस्था लगातार बिगड़ रही है। आम आदमी पार्टी संविधान में भरोसा रखती है हिंसा में नहीं। वहीं आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता राघव चड्डा ने कहा है कि AAP में हिंसा की कोई जगह नहीं है।

नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ दिल्‍ली में फैली हिंसा के दूसरे दिन सोमवार को मेट्रो की व्‍यवस्‍था सुचारू कर दी गई। मेट्रो स्‍टेशनों के एंट्री और एग्‍जिट गेट खुल गए हैं।

उधर, रात में डिटेन किए गए छात्रों को सुबह होने से पहले ही छोड़ दिया गया। एक दिन पहले कालिंदी कुंज से शुरू हुई हिंसा जामिया नगर, न्‍यू फ्रेंड्स कॉलोनी तक पहुंच गई थी।

इस दौरान पुलिसवालों पर हमले किए गए। डीटीसी की तीन बसों को फूंक दिया गया और कुछ बाइकों में भी आग लगा दी गई। इस हिंसा में दिल्‍ली पुलिस के अधिकारियों समेत कई पुलिसवाले घायल हुए हैं।

एक पुलिसवाले की आईसीयू में होने की बात कही जा रही है. हिंसक प्रदर्शन को देखते हुए दिल्ली सरकार ने साउथ ईस्ट दिल्ली के सभी स्कूल-कॉलेज बंद रखने के आदेश जारी किए ।

Top Stories