बहुत से मुसलमान गोमांस नहीं खाते, वे गौपालक और रक्षक हैं: मोहन भगत

बहुत से मुसलमान गोमांस नहीं खाते, वे गौपालक और रक्षक हैं: मोहन भगत

दरभंगा। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के प्रमुख मोहन भागवत ने देश में किसानों की हालत पर चिंता जताते हुए आज कहा कि अर्थव्यवस्था में सुधार के लिए किसान को आर्थिक रूप से मजबूत बनाने की जरूरत है। श्री भगवत ने यहां दरभंगा मेडिकल कॉलेज व अस्पताल (डीएमसीएच) में आयोजित एक कार्यक्रम से मुखातिब थे।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

उन्होंने कहा कि देश किसानों की स्थिति चिंता का विषय है। किसानों की खराब हालत का असर अर्थव्यवस्था पर भी पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि देश की आर्थिक स्थिति को ठीक करने के लिए किसान की स्थिति में सुधार करना आवश्यक है। इसके लिए खेती और गौपालक की भूमिका महत्वपूर्ण हो सकती है।

आरएसएस प्रमुख ने जैविक खेती को बढ़ावा देने की जरूरत पर जोर दिया, यह कह कर कि इसे बढ़ावा देने से किसानों की स्थिति काफी हद तक बदली जा सकती है। जैविक खेती को बढ़ावा देने में गौपालक की भूमिका महत्वपूर्ण होगी। उन्होंने जोर देकर कहा कि इस्लाम के मानने वाले भी गौपालकों और गौ रक्षकों का विरोध नहीं करते, बहुत से मुसलमान गौमांस नहीं खाते बल्कि गौपालक और रक्षक हैं।

Top Stories