कैंसर का इलाज कराने गई तब पता चला औरत नहीं मर्द है!

कैंसर का इलाज कराने गई तब पता चला औरत नहीं मर्द है!

शारीरिक बनावट के चलते महिला और पुरुष में अंतर किया जाता है, लेकिन कई बार जेनेटिक बदलाव को बाहरी स्तर पर पकड़ना आसान नहीं है।

 

पत्रिका पर छपी खबर के अनुसार, एक शख्स पिछले 30 साल से औरत की तरह जिंदगी जी रहा था, लेकिन बाद में उसे हकीकत का पता चला तो उसके पैरों तले जमीन खिसक गई। मामला कोलकाता का है।

 

 

यहां रहने वाली एक 30 वर्षीय महिला को Testicular Cancer हो गया। इसी के इलाज के लिए डॉक्टर के पास गई तो उसे बीमारी के साथ एक हैरान करने वाली सच्चाई पता चली। डॉक्टरों ने बताया कि असल में वह महिला नहीं बल्कि पुरुष है।

 

शख्स कोलकाता के बीरभूम का रहने वाला है। बताया जाता है कि वह पेट दर्द (Abdomen Pain) की शिकायत के बाद इलाज के लिए नेताजी सुभाष चंद्र बोस कैंसर हॉस्पिटल पहुंचा।

 

वहां डॉक्टर उसे मर्ज की वजह बताते कि उसे अपनी जिंदगी की हकीकत का भी पता चला। डॉक्टरों का कहना है कि शख्स देखने में पूरी तरह से महिला की तरह है।

 

उसकी आवाज, शरीर का विकास और अन्य सभी अंग महिलाओं की तरह ही नजर आते हैं। मगर उसमें Uterus और Ovaries जन्म से ही नहीं हैं। असल में वह एक मर्द है। उसमें एंड्रोजन इंसेंसिविटी सिंड्रोम’ पाया गया है।

 

ये एक ऐसी बीमारी है जिसमें शख्स जेनेटिक रुप से पुरुष पैदा होता है, लेकिन उसके भौतिक लक्षण महिलाओं के जैसे होते हैं। उसके महिलाओं की तरह दिखने और तौर तरीकों के चलते ही वह पिछले 9 साल से शादीशुदा जिंदगी बिता रहा है।

 

मगर डॉक्टरों से हकीकत का पता चलते ही उसका पति सदमे में है। वहीं पीड़ित शख्स भी समझ नहीं पा रहा है कि क्या करें। ऐसे में चिकित्सक दोनों की काउंसलिंग कर रहे हैं। वे उन्हें नए तरीके से जिंदगी शुरू करने और नजरिए को बदलने के लिए प्रेरित कर रहे हैं।

Top Stories