मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के मौलाना बोले, मुसलमान योग कर सकते हैं, लेकिन शर्त है कि उसमें पूजा न हो

मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के मौलाना बोले, मुसलमान योग कर सकते हैं, लेकिन शर्त है कि उसमें पूजा न हो
Click for full image

ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के सदस्य मौलाना खालिद रशीद फिरंगी महली ने कहा कि मुसलमानों के योग करने में कोई समस्या नहीं है। उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर मुसलमान योग कर सकते हैं, लेकिन शर्त यह है कि उसमें किसी प्रकार की पूजा को शामिल नहीं किया जाना चाहिए।

मौलाना ने कहा, ‘योग अच्छी बात है और उस पर अमल किया जाना चाहिए। लेकिन योग उत्सव के दौरान मुसलमानों को किसी भी प्रकार की पूजा से बचना चाहिए।‘

खबरों के मुताबिक लखनऊ के रमाबाई अंबेडकर मैदान में 21 जून को होने वाले योग दिवस समारोह में 50 हजार लोग योग करने वाले हैं। जिसमें 300 मुस्लिम महिला और पुरुष शामिल हैं।

इस समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद रहेंगे। मौलाना ने यह भी कहा कि अगर उन्हें समारोह के लिए आमंत्रित किया जाता है तो वह भी योग करने को सोचेंगे।

गौरलतब है कि केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह और यूपी सीएम ने 14 मई को समारोह की तैयारियों का जायज़ा लिया था। शहर के विभिन्न पार्कों में एलईडी स्क्रीन लगाए जाएंगे ताकि शहर के आम नागरिक भी इस कार्यक्रम का हिस्सा बन सकें।

 

Top Stories