पहलू खान मॉब लिंचिंग में सभी आरोपियों की बरी होने के लिए कांग्रेस सरकार जिम्मेदार- मायावती

पहलू खान मॉब लिंचिंग में सभी आरोपियों की बरी होने के लिए कांग्रेस सरकार जिम्मेदार- मायावती

राजस्थान के अलवर में 2017 में हुए पहलू खान हत्याकांड मामले में आरोपियों को निचली अदालत द्वारा बरी किए जाने के बाद राज्य की कांग्रेस सरकार पर बसपा प्रमुख मायावती ने घोर लापरवाही बरतने का आरोप लगाया है।

वहीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने अदालत के फैसले को चौंकाने वाला बताते हुए उम्मीद जताई है कि राज्य सरकार इस मामले में न्याय दिलाकर भीड़ हत्या के खिलाफ अपने नये कानून के कार्यान्वयन का अच्छा उदाहरण पेश करेगी। उल्लेखनीय है कि राज्य में बसपा के छह विधायक हैं और वह अशोक गहलोत सरकार को बाहर से समर्थन दे रही है।

बसपा प्रमुख मायावती ने पहलू खान मामले में आरोपियों को बरी किए जाने को लेकर राजस्थान सरकार पर घोर लापरवाही बरतने का आरोप लगाया है। अलवर की जिला अदालत ने बुधवार को पहलू खान मामले में सभी छह बालिग आरोपियों को संदेह का लाभ देते हुए बरी कर दिया था।

इंडिया टीवी न्यूज़ डॉट कॉम के अनुसार, मायावती ने शुक्रवार को ट्वीट किया ”राजस्थान की कांग्रेस सरकार की घोर लापरवाही और निष्क्रियता के कारण बहुचर्चित पहलू खान हत्याकांड मामले में सभी छह आरोपी वहाँ की निचली अदालत द्वारा बरी कर दिए गए। यह अति-दुर्भाग्यपूर्ण है।’’

उन्होंने आगे लिखा है ‘‘पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने के लिए वहाँ की सरकार अगर सतर्क रहती तो क्या यह संभव था ? शायद कभी नहीं ।” मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पहलू खान के परिवार वालों को न्याय दिलाने के लिए अपनी सरकार की प्रतिबद्ध जाहिर करते हुए कह चुके हैं कि इस मामले में निचली अदालत के फैसले को चुनौती दी जाएगी। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने निचली अदालत के फैसले को चौंकाने वाले बताया है।

प्रियंका ने ट्वीट किया, ‘‘पहलू खान मामले में निचली अदालत का फैसला चौंका देने वाला है। हमारे देश में अमानवीयता की कोई जगह नहीं होनी चाहिए और भीड़ द्वारा हत्या एक जघन्य अपराध है।’’ इसके साथ ही प्रियंका ने मॉब लिंचिंग जैसे मामलों से निपटने के लिए राज्य सरकार द्वारा कानून बनाए जाने की पहल की सराहना भी की।

उन्होंने लिखा, ‘‘राजस्थान सरकार द्वारा भीड़ हत्या के खिलाफ कानून बनाने की पहल सराहनीय है। आशा है कि पहलू खान मामले में न्याय दिलाकर इसका अच्छा उदाहरण पेश किया जाएगा।’’

गौरतलब है कि पहलू खान नामक व्यक्ति एक अप्रैल 2017 को जयपुर से दो गाय खरीद कर ले जा रहा था। बहरोड़ में भीड़ ने गो तस्करी के शक में उसे रोका और उसकी तथा उसके दो बेटों की कथित तौर पर पिटाई कर दी। पहलू खान की तीन अप्रैल को इलाज के दौरान अस्पताल में मौत हो गयी।

Top Stories