Wednesday , December 13 2017

मोदी सरकार के राज में लोकतंत्र का भविष्य खतरे में आ गया है: मायावती

लखनऊ: बिहार में मचे सियासी घटनाक्रम के बाद बसपा सुप्रीमो मायावती ने अपनी चुप्‍पी तोड़ी है।
बिहार में महागठबंधन टूट जाने पर चिंता जाहिर की है। उन्होंने कहा की जो आज बिहार की राजनीति में हो रहा है, वो लोकतंत्र के लिए अच्‍छा नहीं है।
लखनऊ में मायावती ने संबोधित किया, यहाँ उन्होंने कहा कि ससे देश का लोकतंत्र मजबूत होने की बजे ज्यादातर कमजोर होगा।
अब देश की आम जनता को आगे आकर लोकतंत्र को कमजोर होने से बचाना होगा।

अगर जनता ऐसा नहीं करती है तो इसका सबसे ज्यादा नुकसान जनता को ही होगा न कि राजनैतिक पार्टियों और उनके नेताओं को।

बीजेपी पर हमला करते हुए मायावती ने कहा की पार्टी के नेताओं ने मशीनरी के दुरूपयोग किया है।

मणिपुर और गोवा के बाद कल बिहार में जो कुछ भी हुआ वह इस बात का सबूत है कि मोदी सरकार में लोकतंत्र का भविष्य खतरे में है।

 

 

 

बता दें कि हाल ही में मायावती ने सहारनपुर की घटना पर राज्‍यसभा में बोलने के लिए पर्याप्‍त समय ना दिये जाने से आहत होकर सदन की सदस्‍यता से इस्‍तीफा दे दिया था। बसपा सुप्रीमो अब यूपी में दुबारा से अपनी खोई सियासी जमीन तलाश रही हैं। यूपी की सियासत में हाशिये पर चली गई मायावती की बहुजन समाज पार्टी भी हाल के महीनों में बड़े उठा-पटक की गवाह रही है।

यूपी विधानसभा चुनाव से पहले जहां पार्टी के कद्दावर नेता स्‍वामी प्रसाद मौर्य ने पार्टी से इस्‍तीफा दे दिया था, वहीं चुनाव बाद पार्टी के मुस्‍लिम चेहरा नसीमुद्दीन सिद्दिकी ने भी अपनी सुप्रीमो पर गंभीर आरोप लगाते हुए बसपा को अलविदा कह दिया। पार्टी में हुई बड़ी टूट के बाद अब बिहार की राजनीति में आये भूचाल पर मायावती ने ताजा बयान दिया है।

 

mail

TOPPOPULARRECENT