Tuesday , December 12 2017

वायरल हुआ विडियो- शिक्षा मित्रों ने मांगी भीख, योगी-मोदी के नाम पर इकट्ठा किया पैसा

सोशल मीडिया पर एक पुराना विडियो वायरल हो रहा है। ये विडियो जून महीने का है । मेरठ में  धरने पर बैठे शिक्षा मित्र भीखने मांगने को मजबूर थे।

दरअसल, ये शिक्षा मित्र खुद का घर चलाने के लिए नहीं बल्कि सरकार का खजाना भरने के लिए भीख मांग रहे हैं। शिक्षा मित्र मोदी और योगी के नाम पर भीख मांग रहे है। आने-जाने वाले हर शख्स को ये इस उम्मीद से देख रहे हैं कि वो दान में कुछ पैसा दें और ये पैसा इक्ठठा करके सरकार को भेजा जाए ताकि सरकार का कोष भर पाएगें। क्योंकि सुप्रीम कोर्ट की तरफ से उन्हें निराशा हाथ लगी है। अब उम्मीद है तो सिर्फ राज्य सरकार से की शायद कुछ हो सके।

हाथों में भीख का कटोरा और उसमें पडे़ चंद सिक्के ये बयां करने के लिए काफी है। इन शिक्षा मित्रों की जिंदगी इस फैसले से कितनी तबाह हो चुकी है। शिक्षा मित्रों का ये भी आरोप है कि बीजेपी सरकार ने वायदा किया था कि शिक्षा मित्रों का दुख उनका दुख है लेकिन अब सत्ता में आने के बाद वो हमें भूल गए है अगर यहीं चलता रहा तो हमारा जीवन पूरी तरह से बर्बाद हो जाएगा। बच्चों की फीस और घर के खर्चे कैसे चलेगे। इस उम्र में किसी अन्य प्रोफेशन में जाना भी मुश्किल है।

आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने शिक्षा मित्रों को सहायक शिक्षक पद पर समायोजित करने के फैसले को रद्द कर दिया जिसके चलते शिक्षा मित्रों को उनके पद से हटा दिया गया है और अब किसी भी स्कूल में उन्हें पढ़ाने नहीं दिया जा रहा है। कहां तो उन्हें करीब 35 हजार तनख्वाह मिल रही थी और कहां आज उन्हें कुछ नहीं मिल रहा है।

शिक्षा मित्र निमिषा का कहना है कि मोदी और योगी ने हमें बर्बाद कर दिया है। हमारी नौकरी छीन ली है। हमारे सामने रोजी-रोटी का सकंट है ये भीख मांगने से जो पैसा मिलेगा वो हम सरकार को भेजेंगें ताकि उनका कोष भर सके। वहीं मनीषा और राहुल का कहना है कि 17 साल पहले हमें शिक्षा मित्र के तौर पर रखा गया था लेकिन 25 जुलाई को सुप्रीम कोर्ट ने हमारा समायोजन रदद कर दिया। हमें हमारी नौकरी चाहिए नौकरी नहीं मिली तो हम बर्बाद हो जाएगें।

TOPPOPULARRECENT