Thursday , December 14 2017

योगी के मंत्री ने किया दिव्यांग सफाई कर्मचारी का अपमान, कहा- लूला लंगड़ा कुछ नहीं कर पाएगा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक तरफ विकलांग लोगों को सम्मान देते हुए दिव्यांगों कहने की बात करते हैं, वहीँ दूसरी तरफ उनकी ही पार्टी के नेता दिव्यांगों का सरेआम अपमान कर रहे हैं।

https://twitter.com/i/web/status/854732334129700864

इस बीच यूपी में योगी सरकार के एक कैबिनेट मंत्री सत्यदेव पचौरी का एक वीडियो सामने आया है जिसमें वो एक दिव्यांग कर्मचारी के लिए आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल करते दिखाई दे रहे हैं। वीडियो सामने आने के बाद सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

दरअसल, बुधवार को खादी एवं ग्रामोद्योग मंत्री सत्यदेव पचौरी मंत्रालय दफ्तर का मुआयना करने निकले थे। पहुंचते ही उन्होंने मुख्य द्वार बंद करवा दिया। अंदर जगह-जगह गंदगी दिखी। आगे बढ़ने पर उनका सामना विकलांग सफाई कर्मचारी से हो गया। उन्होंने कर्मचारी से पूछा- तुम क्या हो? तो उसने बताया कि वह सफाई कर्मचारी है।

इसके बाद मंत्री ने पूछा कि क्या तुम संविदा पर हो, तो उसने हाँ में जवाब दिया।

जवाब सुनकर सत्यदेव पचौरी ने मुख्य कार्यपालक अधिकारी अखिलेश कुमार मिश्रा की तरफ मुखातिब होते हुए कहा, “यह कोई भी हो, कैसे भर्ती कर लिया? यह क्या काम करेगा? तभी सफाई का यह हाल हो गया है। आप पैसा दे रहे हो न? कितना पैसा देते हो?”

सवाल सुनकर सफाई कर्मचारी ने कहा कि उसे चार हजार रुपये मिलता है लेकिन दूसरी तरफ सीईओ ने दावा किया कि उसे पांच हजार रुपये दिए जाते हैं।

फिर दिव्यांगों सफाई कर्मचारी के सामने ही मंत्री ने सीईओ से कहा, “लूले-लंगड़े लोगों को संविदा पर रखा है? ये क्या सफाई करेगा? तभी यह हाल है सफाई का।”

इसके बाद उन्होंने नजारत प्रभारी को बुलवाया और कहा कि प्रधानमंत्री स्वच्छ भारत अभियान चला रहे हैं और आपको सफाई करनी नहीं आती। शाम तक सफाई नहीं हुई तो सिर पर रखकर कूड़ा उठवाऊंगा।

 

TOPPOPULARRECENT