Tuesday , December 12 2017

यूपी के लोगों ने कहा- ‘वोटर लिस्ट में नाम ग़ायब होना लोकतंत्र के साथ भद्दा मज़ाक़ है’

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में जारी निकाय चुनाव में वोटरलिस्ट अधिकांश मतदाताओं के नाम गायब होने पर आम और खास लोगों ने इसे लोकतंत्र के साथ भद्दा मजाक बताया है।

चुनाव के दूसरे चरण में कल हुए मतदान में पूर्व केंद्रीय मंत्री और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता कलराज मिश्र, राज्य के पुलिस महानिदेशक सलिखान सिंह, पूर्व चुनाव आयुक्त कृष्णमूर्ति, वाराणसी में 2014 में नरेंद्र मोदी का नाम एक प्रस्तावक (नामांकित व्यक्ति) भी मतदाता से गायब हो गए। इसके अलावा, हजारों लोगों ने इस बारे में शिकायत की

सैकड़ों लोगों को तो पोलिंग बूथ पर जाने के बाद पता चला कि उनका नाम सूची में नहीं है, हालांकि वह चुनाव आयोग आईडी कार्ड साथ ले गए थे फिर भी वोट देने से वंचित रह गए।

TOPPOPULARRECENT