मुस्लिम समुदाय के युवक से शादी करने पर हिंदू संगठनों ने रोड जाम कर कानून को हाथ में लिया

मुस्लिम समुदाय के युवक से शादी करने पर हिंदू संगठनों ने रोड जाम कर कानून को हाथ में लिया
Click for full image

नई दिल्ली। गैर समुदाय के युवक से शादी करने पर वर और वधु पक्ष के लोगों को भाजपाइयों समेत तमाम हिंदू संगठन के लोगों का विरोध झेलना पड़ा। दोनों ने गाजियाबाद कोर्ट में स्पेशल मैरिज एक्ट के तहत शादी की तो भाजपाइयों और हिंदू संगठन के लोगों ने उसे लव जिहाद बताते हुए जमकर हंगामा किया और रोड जाम कर कानून को अपने हाथ में लेने की कोशिश की।

पुलिस ने उन्हें समझाने का प्रयास किया तो प्रदर्शनकारियों ने पुलिस अफसरों से भी अभद्रता की और पथराव किया। जिसके बाद पुलिस को लाठी चार्ज करना पड़ा। दोपहर करीब 12 बजे से चला हंगामा शाम करीब साढे 5 बजे तक चलता रहा। इस दौरान पुलिस को दो बार लाठी भांजनी पड़ी।

शाम करीब 5 बजे पहुंचे एसएसपी ने लाठी चार्ज समेत पूरे मामले की जांच कराने का आश्वासन दिया, जिसके बाद प्रदर्शनकारी वापस लौट गए। कविनगर क्षेत्र में रहने वाले चार्टेड अकाउंटेट (सीए) की डॉक्टर बेटी बेंगलुरु मेंं मेडिकल के स्पेशल कोर्स में पीएचडी कर रही है। कुछ साल पहले अलीगढ़ में पढ़ाई के दौरान उसकी मुलाकात अलीगढ़ निवासी गैर समुदाय के युवक से हुई थी।

DMRC ने बताए मेट्रो के फीचर, ऐसी होगी हाइटेक मैजेंटा लाइन
दोनों एएमयू में साथ पढ़ते थे, जहां वे एक दूसरे के नजदीक आ गए। युवती के परिवार का कहना है कि कानूनी प्रक्रिया के बाद दोनों ने शुक्रवार को स्पेशल मैरिज एक्ट के तहत शादी रजिस्टर्ड कराई, जिसके बाद शुक्रवार को ही युवती के कविनगर स्थित घर पर रिसेप्शन पार्टी रखी गई थी, जिसमें युवक का परिवार भी अलीगढ़ से शामिल होने यहां आया था।

इसकी भनक लगने के बाद हिंदू संगठन के लोग युवती के घर पहुंच गए और दोनों की शादी को लव जेहाद बताकर रुकवाने की कोशिश की और हंगामा शुरू कर दिया।

Top Stories