Monday , July 23 2018

राज्यसभा में उठा मॉब लिंचिंग का मामला, कानून में बदलाव की मांग को सरकार ने ठुकराया

बुधवार को संसद सत्र शुरु होते ही लोकसभा और राज्यसभा में जमकर हंगामा हुआ। विपक्ष के हंगामे के बाद लोकसभा की कार्यवाही 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई । उस समय पीएम नरेंद्र मोदी भी वहीं मौजूद थे।

लोकसभा के साथ ही राज्यसभा में भी हंगामा हुआ। विपक्ष ने यहां किसानों की आत्महत्या और मॉब लिंचिंग का मुद्दा उठाया। दिग्विजय सिंह ने कहा कि सरकार किसानों की आत्महत्या पर मौन है। शरद यादव ने भी सरकार से इस मुद्दे पर बहस की मांग की।

राज्यसभा में हंगामे के बीच कार्यवाही जारी रही। राज्यसभा में भीड़ की हिंसा पर बहस हुई। कांग्रेस ने पूछा है कि भीड़ की हिंसा पर कानून क्यों नहीं बनाया गया है?

राज्यसभा में गोरक्षा को लेकर भी हंगामा हुआ है। सरकार ने सदन में कहा है कि हिंसा को लेकर कानून पहले से है। इसको लेकर बदलाव करने की जरुरत नहीं है।

सरकार ने यह भी कहा है कि ऐसी कोई घटना होती है तो राज्य सरकारें अपने स्तर पर आरोपियों पर कार्रवाई कर सकती हैं। सदन में कांग्रेस ने भीड़ की हिंसा को लेकर कानून बनाने की बात कही थी।

 

TOPPOPULARRECENT