Monday , December 18 2017

स्वामी नाथन आयोग की सिफारिशें लागू करने से इनकार कर मोदी सरकार ने किसानों के साथ नाइंसाफी किया है: योगेन्द्र यादव

देवरिया। स्वराज इंडिया के अध्यक्ष योगेंद्र यादव ने आरोप लगाया है कि स्वामी नाथन आयोग की सिफारिशें लागू करने से इनकार कर केंद्र की मोदी सरकार ने किसानों के साथ नाइंसाफी किया है। श्री यादव ने कल देर शाम यहां संवाददाताओं से कहा कि सरकार ने अदालत में एक हलफनामा दाखिल करके कहा है कि आयोग की सिफारिशें लागू करना संभव नहीं है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

उन्होंने कहा कि स्वामी नाथन आयोग ने सिफारिश की है कि किसानों को उनके उत्पादन का डेढ़ गुना मूल्य मिले। देश के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने चुनाव के दौरान देश के लोगों से वादा किया था कि किसानों के साथ इंसाफ होगा। उन्होंने किसानों के उत्पादन की पूरी लागत और हर तरह की कर्ज से छुटकारा देने की मांग की है।

किसानों के इन्हीं सब मांगों के लिए बिहार के जिला चंपारन से तीसरे चरण की ‘किसान मुक्ति यात्रा’ शुरू की गई है। उन्होंने दावा किया है कि पहली बार देश के किसान इस आंदोलन से जागरूक हो रहे हैं। श्री यादव ने कहा कि देश की 150 किसान संगठनों को मिलाकर ऑल इंडिया फार्मरज़ एकशन कोआर्डिनेशन समिति बनाई गई है। इस यात्रा की शुरुआत मध्य प्रदेश के मंदसौर से दिल्ली तक हुई। तीसरे चरण की यात्रा गजरोला में 11 अक्टूबर को समाप्त होगी।

TOPPOPULARRECENT