Thursday , August 16 2018

प्रवीण तोगड़िया को मोदी सरकार पर हमला करने की सज़ा देगा संघ !

भाजपा और केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार से नाराज विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) के अंतरराष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया को उनके पद से हटाया जा सकता है. टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) प्रवीण तोगड़िया और भारतीय मजदूर संघ के महासचिव विर्जेश उपाध्याय से नाराज है और इन दोनों नेताओं को उनके पदों से हटाने की तैयारी कर रहा है. हाल के समय में ये दोनों नेता कई बार भाजपा और मोदी सरकार के खिलाफ बयान देते रहे हैं.

इन दोनों के अलावा वीएचपी के अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष राघव रेड्डी को भी हटाया जा सकता है. सूत्रों का कहना है कि जिस तरह से इन तीनों नेताओं ने अपने एजेंडे के लिए सरकार को शर्मिंदा किया उससे संघ के पदाधिकारी नाखुश हैं. संघ के इन लोगों को यह भी लगता है कि इन दोनों बड़े संगठनों का इस्तेमाल संघ की विचारधारा को फैलाने में नहीं किया जा रहा. संघ के अंदर के लोगों का कहना है कि फरवरी के अंत में वीएचपी की कार्यकारी बैठक होगी. उन्होंने बताया कि बैठक में संघ की तरफ से नए अध्यक्ष के लिए चुनाव कराने पर जोर दिया जाएगा ताकि राघव रेड्डी और प्रवीण तोगड़िया को उनके समर्थकों समेत हटाया जा सके. जानकारी के मुताबिक मार्च से पहले नए वीएचपी अध्यक्ष का चुनाव किया जा सकता है.

हाल में प्रवीण तोगड़िया ने मोदी सरकार पर आरोप लगाया था कि वह उनका एनकाउंटर कराना चाहती थी. उन्होंने सीधे-सीधे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नाम लेकर कई आरोप लगाए थे. खबर के मुताबिक तोगड़िया ने ऐसा करके पहले से लगी आग में घी डालने का काम किया. सूत्रों का कहना है कि संघ ने भाजपा सरकार के खिलाफ बोलने वालों पर कार्रवाई करने का मन बना लिया था. संघ चाहता है कि उसके बड़े संगठन सरकार से सीधे न भिड़ें और मतभेदों को मैत्रीपूर्ण ढंग से दूर करें. उसके ज्यादातर लोगों का यही मानना है कि अब संगठनात्मक परिवर्तन करने ही होंगे ताकि 2019 के चुनाव से पहले किसी भी तरह के विवाद को खत्म किया जा सके.

 

साभार- सत्याग्रह

 

TOPPOPULARRECENT