केरल में 4 जून को दस्तक देगा मानसून, 22 मई को अंडमान निकोबार पहुंचने की संभावना : स्काइमेट

केरल में 4 जून को दस्तक देगा मानसून, 22 मई को अंडमान निकोबार पहुंचने की संभावना : स्काइमेट

नई दिल्ली : मौसम पूवार्नुमान बताने वाली एजेंसी स्काईमेट ने 2019 में देश में मानसून सामान्य से कम (91% वर्षा) रहने का अनुमान जताया है। कम बारिश का अनुमान 50 फीसदी है, जबकि सूखे का अनुमान 20% है। इस बार एजेंसी ने मानसून के तीन दिन की देरी से चार जून को केरल पहुंचने का पूवार्नुमान जारी किया है। केरल में सामान्यत: मानसून शुरू होने की तारीख एक जून है।

एजेंसी के मुताबिक, मानसून अपने सामान्य समय पर भारत में दस्तक दे सकता है। हालांकि, यह शुरुआत में कमजोर रहेगा। भारत में सबसे पहले मानसून के 22 मई को अंडमान और निकोबार द्वीप पर पहुंचने की संभावना है। आमतौर पर यहां मानसून 20 मई तक दस्तक देता है। गत महीने स्काईमेट ने मौसम के लिए सामान्य से कम मानसून रहने का अनुमान जताया था।

उन्होंने कहा कि स्काईमेट मानसून के बारे में अपने पुराने पूवार्नुमान पर कायम है कि इस साल बारिश दीघार्वधि औसत का 93 प्रतिशत होगी। मध्य भारत में सबसे कम 91 प्रतिशत, पूर्व तथा पूवोर्त्तर में 92 प्रतिशत, दक्षिण में 95 प्रतिशत और पश्चिमोत्तर में 96 प्रतिशत बारिश का अनुमान है।

स्काइमेट के एमडी जतिन सिंह के मुताबिक, “2019 में मानसून का सभी चारों क्षेत्रों में कमजोर प्रदर्शन देखने को मिलेगा। पूर्वी, पूर्वोत्तर और मध्य भारत में कम बारिश की आशंका है, जबकि उत्तर-पश्चिम और दक्षिण भारत में चिंता कम है।” इससे पहले भी स्काइमेट ने 3 अप्रैल को देश में मानसून सामान्य से कम (93% वर्षा) रहने का अनुमान जताया था। मानसून के सामान्य से नीचे रहने के 55% से ज्यादा आसार हैं।

Top Stories