NIA की जांच में दावा, पलवल की मस्जिद में लगा लश्कर-ए-तैयबा का पैसा

NIA की जांच में दावा, पलवल की मस्जिद में लगा लश्कर-ए-तैयबा का पैसा
फोटो- जनसत्ता

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) की जांच  के मुताबिक हरियाणा के पलवल जिले में बनी मस्जिद सुरक्षा एजेंसियों की जांच के घेरे में आ गई है। एनआईए की जांच में सामने आया है कि इसमें कथित रूप से पाकिस्तान में हाफिज सईद के नेतृत्व वाले आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा (LeT) का फंड लगा होने का दावा किया  है।

पलवल के उत्तरा गांव में खुलाफा-ए-रशीदीन मस्जिद की जांच 3 अक्टूबर को एनआईए अधिकारियों ने की थी। एजेंसी ने इससे पहले कथित टेरर फंडिंग के मामले में नई दिल्ली में मस्जिद के इमाम मोहम्मद सलमान सहित तीन लोगों को गिरफ्तार किया था।

‘इंडियन एक्सप्रेस’ की खबर के मुताबिक, यहां के निवासियों ने बताया कि मस्जिद जिस जमीन पर बनी है, वो विवादित है। उन्हें सलमान के LeT से लिंक की जानकारी नहीं है। एनआईए मस्जिद के पदाधिकारियों से पूछताछ कर रही है और खाता किताबों की जांच जारी है। दान और दस्तावेजों के विवरण जब्त किए गए हैं।

सलमान (52), मोहम्मद सलीम और सज्जाद अब्दुल वानी को 26 सितंबर को लाहौर स्थित फलाह-ए-इंसानियायत फाउंडेशन (FIF) से फंड प्राप्त करने के लिए गिरफ्तार किया गया था। फलाह-ए-इंसानियायत फाउंडेशन की स्थापना हफीज सईद के जमात-उद-दावा (लश्कर का मूल संगठन) द्वारा की गई थी।

सूत्रों ने बताया कि एनआईए की जांच में पाया गया है कि सलमान ने कथित रूप से पलवल में मस्जिद बनाने के लिए एफआईएफ धन लगाया। एक NIA ऑफिसर ने कहा, ‘सलमान, जो दुबई में था, तब एलईटी से जुड़े लोगों के संपर्क में आया। उसे एफआईएफ से धन प्राप्त हो रहा था। संगठन ने उसे मस्जिद बनाने के लिए 70 लाख रुपए दिए। यहां तक की उसकी बेटियों के विवाह के लिए भी पैसा दिया। अब हम जांच कर रहे हैं कि मस्जिद को दान क्यों मिल रहा है और यह पैसा कैसे इस्तेमाल किया जा रहा है।’

Top Stories