जानिए, मस्जिदों के लिए क्या है गाइडलाइंस?

, ,

   

आज यानी 8 जून से देश के सभी धार्मिक स्थलों को खोल दिया गया है। इनमें कुछ शर्त लगाएं गये हैं।

जागरण डॉट कॉम पर छपी खबर के अनुसार, मस्जिद में नमाज पढ़ने के लिए आने वाले लोगों से अपील की गई है कि वह नमाज के लिए वजू घर में ही करके मस्जिद में पहुंचें।

जानिए, मस्जिदों के लिए क्या है गाइडलाइंस? 1जानिए, मस्जिदों के लिए क्या है गाइडलाइंस? 2

मस्जिद और मदरसे में नमाज पढ़ने के लिए आने वाले लोग शारीरिक दूरी का पालन करते हुए मास्क लगाकर नमाज पढ़ेंगे।

मस्जिद में रखे कुरान और दूसरी चीजों को छूने के लिए मना किया गया है। सभी मस्जिदों में मास्क, सैनिटाइजर और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा।

हिन्दुस्तान लाइव पर छपी खबर के अनुसार, जामिया मस्जिद के इमाम मकसूद इमरान ने मीडिया को बताया कि उनकें यहां ज्यादा उम्री और 10 साल से कम उम्र के लोगों को प्रवेश की इजाजत नहीं होगी।

लोगों को सैनिटाइजर टनल से प्रवेश के बाद ही मस्जिद में आने दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि जुमा की नमाज के लिए पहले यहां 10000 लोग आते थे लेकिन अब 1000-1500 लोग ही एक दिन में नमाज अदा कर पाएंगे।

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी की जामा मस्जिद को खोलने से पहले जारी की गई गाइडलाइंस के अनुसार, मस्जिद में बिना मास्क के किसी को भी दाखिला नहीं मिलेगा।

नमाज से पहले नमाज के बाद किसी भी तरह की मीटिंग नहीं होगी। लोग सिर्फ फर्ज नमाजें पढ़ सकेंगे और घर को जाएंगे। लोगों को सलाह है कि वे वुजू अपने घर से कर के आएं।

कोरोना वायरस महामारी के बीच देश में कल (8 जून) से धार्मिक स्थल खुल रहे हैं। इसको देखते हुए फतेहपुरी मस्जिद में सैनेटाइजेशन का काम चल रहा है।