रेप अटेम्प्ट होने के बाद 7 बच्चों की माँ ने की आत्महत्या, पंचायत द्वारा आरोप वापस लेने का था दबाव

रेप अटेम्प्ट होने के बाद 7 बच्चों की माँ ने की आत्महत्या, पंचायत द्वारा आरोप वापस लेने का था दबाव

आगरा : अपने सुसाइड नोट में, महिला ने आरोप लगाया कि मेरे साथ इंसाफ नहीं किया गया और कथित बलात्कारी के खिलाफ शिकायत वापस लेने के लिए हमें ग्राम सभा द्वारा मजबूर किया गया। टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, उत्तर प्रदेश के आगरा शहर की एक महिला ने मंगलवार को बलात्कार का प्रयास करने वाले एक व्यक्ति के खिलाफ शिकायत वापस लेने का आरोप लगाकर आत्महत्या कर ली। 35 वर्षीय महिला और सात बच्चों की माँ ने अपने जीवन को समाप्त करने के लिए अपने पति की बंदूक का इस्तेमाल किया।

महिला ने खुद को मारने से पहले एक सुसाइड नोट लिखी थी। महिला ने सुसाइड नोट में लिखा कि, “मेरे साथ इंसाफ नहीं हुआ और मैं सार्वजनिक रूप से अपने ऊपर लगे अपमान को सहन नहीं कर सकती। मुझे इस बलात्कारी को जेल भेजने के बजाय मेरे साथ बलात्कार का प्रयास करने वाले शख्स के साथ अपनी शिकायत निपटाने के लिए मजबूर होना पड़ा।

पुलिस ने कहा कि महिला ने अपने पड़ोसी मुनीष के नाम पर उत्पीड़न और बलात्कार के प्रयास का आरोप लगाया है। महिला के पति का आरोप है कि मुनीष ग्राम प्रधान का रिश्तेदार था और उसकी पत्नी को हफ्तों तक घूरता रहा। “उसने उसे परेशान करने के लिए अश्लील कॉल किए थे और 29 दिसंबर की रात को मेरी पत्नी के साथ बलात्कार करने के प्रयास किए थे। मुनीष को जेल भेजने के बजाय, पंचायत (ग्राम परिषद) ने मेरी पत्नी को उसके साथ समझौता करने के लिए मजबूर किया।”

हालांकि पुलिस ने भारतीय दंड संहिता की धारा 306 और 354 के तहत प्रथम सूचना रिपोर्ट (एफआईआर) दर्ज की है, लेकिन अब तक किसी के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

Top Stories