MP में पिकनिक मनाने के दौरान अचानक आई बाढ़, 11 युवक बहे, 30-40 लोग अब भी फंसे

MP में पिकनिक मनाने के दौरान अचानक आई बाढ़, 11 युवक बहे, 30-40 लोग अब भी फंसे
Click for full image

स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर जश्न मनाने के दौरान एक बड़े हादसे में 2 लोग पानी में बह गए, जबकि अभी भी 34 लोग फंसे हुए हैं. घटना ग्वालियर के पास शिवपुरी के सुल्तानगढ़ में घटी जिसमें कई लोग पिकनिक मनाने गए लेकिन वहां अचानक पानी बढ़ने से करीब 34 लोग फंस गए. बचाव कार्य अब कल तड़के शुरू की जाएगी.

ग्वालियर-शिवपुरी बॉर्डर के पास सुल्तानगढ़ में बड़ी संख्या में लोग झरने में पिकनिक मनाने गए थे. सुल्तानगढ़ एक पिकनिक स्पॉट है जो चारों तरफ पहाड़ियों से घिरा है. झरने के पास पार्वती नदी और अन्य जगहों से अचानक बाढ़ आने से वहां पर पानी का जलस्तर तेजी से बढ़ गया जिसमें 34 लोग वहां फंस गए.

भारतीय सेना ने शिवपुरी रेस्क्यू ऑपरेशन के बारे जानकारी देते हुए बताया कि शिवपुरी में अचानक आई बाढ़ में 41 पर्यटक फंसे थे, जिसमें राज्य सरकार की रिपोर्ट के अनुसार 2 बह गए. भारतीय एयरफोर्स (आईएएफ) ने अपने राहत कार्य में 5 लोगों को बचाया. अभी भी 34 पर्यटक वहां फंसे हुए हैं. उनके बचाने का कार्य आईएएफ और भारतीय सेना कल तड़के शुरू करेगी.

इससे पहले केंद्रीय मंत्री और ग्वालियर से सांसद नरेंद्र सिंह तोमर ने आजतक को बताया कि हादसे में फंसे लोगों के पास खाना पहुंचाया जा रहा है. उन्होंने कहा कि पानी में अब तक 34 लोग फंसे हुए हैं और उनको बचाने की कोशिश की जा रही है. हालांकि दृश्यता कम होने की वजह से बचाव कार्य में बाधा आ रही है. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान स्थानीय प्रशासन से राहत कार्य की लगातार जानकारी ले रहे हैं. तोमर खुद इस समय घटनास्थल पर पहुंचे थे.

लोगों को सुरक्षित निकालने के लिए सेना की मदद ली जा रही है. अब तक 7 लोगों को निकाला जा चुका है. यह एक ये फ्लैश फ्लड है और भारी बारिश की वजह से यह बाढ़ आई है.

लोगों के झरने में फंसने की खबर आते ही स्थानीय प्रशासन हरकत में आ गया और उसने बचाव की कोशिश शुरू कर दी. शिवपुरी कलेक्टर शिल्पा गुप्ता ने फोन पर जानकारी दी कि गोताखोर और बचाव दल मौके पर पहुंच गए हैं और बचाने की कोशिश की जा रही है. हेलीकॉप्टर से रेस्क्यू ऑपरेशन किया जा रहा है.

Top Stories