Thursday , November 23 2017
Home / Khaas Khabar / मंदसौर में गुस्साए प्रर्शनकारियों ने DM-SP और पत्रकारों को पीटा, किसानों को शहीद का दर्जा देने की मांग

मंदसौर में गुस्साए प्रर्शनकारियों ने DM-SP और पत्रकारों को पीटा, किसानों को शहीद का दर्जा देने की मांग

मध्यप्रदेश के मंदसौर में कल पुलिस द्वारा गोलीबारी में प्रदर्शन कर रहे 6 किसानों की मौत हो गई, जिसके बाद आंदोलनकारी भीड़ और भड़क गई है और किसानों के गुस्से ने उग्र रूप ले लिया है।

पुलिस के इस क्रूरता भरे कदम के खिलाफ किसान प्रदर्शन कर रहे हैं।

आज प्रदर्शनकारियों को शांत करवाने पहुंचे डीएम स्वतंत्र कुमार सिंह को भीड़ ने पीट डाला और एसपी ओ. पी. त्रिपाठी के साथ भी बदसलूकी की। डीएम और एसपी के खिलाफ चक्काजाम कर भीड़ ने उन्हें घेर लिया।

मंदसौर में बुधवार को किसानों को समझाने के लिए पहुंचे डीएम पर भी किसानों का गुस्सा फूट पड़ा, उनके साथ धक्का-मुक्की हुई, जिसके चलते डीएम को वहां से जल्द से जल्द निकलना पड़ा. डीएम ने यहां भी कहा कि किसानों पर गोली चलाने का कोई आदेश नहीं था.

Posted by NDTVKhabar.com on Tuesday, 6 June 2017

हालाँकि डीएम ने भीड़ से कहा कि उन्होंने किसानों पर गोली चलाने का कोई आदेश नहीं दिया था। लेकिन प्रदर्शनकारियों का गुस्सा देखकर डीएम के अलावा एसपी सहित सभी आला अधिकारियों को वहां से भागना पड़ा।

साथ ही भीड़ ने पत्रकारों से भी मारपीट की गई। इसके अलावा उग्र किसानों ने 8-10 वाहनों में आग लगा दी।

बता दें कि पुलिस की गोलीबारी में मंगलवार को पांच लोग मारे गए थे, जिनमें एक छात्र अभिषेक पाटीदार भी था। उसके शव के साथ ग्रामीण और किसान बरखेड़ा पंत गांव की सड़क पर चक्का जाम किए हुए हैं। उनकी मांग है कि मृतक को शहीद का दर्जा दिया जाए।

TOPPOPULARRECENT