इमरान ख़ान की सरकार आने के बाद मुस्लिम देशों ने बड़े पैमाने पर पाकिस्तानी कैदियों को रिहा किया!

इमरान ख़ान की सरकार आने के बाद मुस्लिम देशों ने बड़े पैमाने पर पाकिस्तानी कैदियों को रिहा किया!

क्या इमरान ख़ान की सरकार आने के बाद दुनिया की ज्यादातर मुस्लिम देशों में बंद पाकिस्तानी कैदियों को जो छोटे अपराधियों में बंद थे, उन कैदियों को बड़े पैमाने पर रिहा किया गया है?

यूएई और सऊदी अरब की जेलों से करीब 2400
खास खबर पर छपी खबर के अनुसार, सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात की जेलों में बंद 2,400 से अधिक पाकिस्तानी कैदियों को पिछले एक साल के दौरान रिहा किया गया है।

एक मीडिया रिपोर्ट में यह बात कही गई। प्रवासी पाकिस्तानी और मानव संसाधन विकास मंत्रालय (ओपीएचईडी) के एक सूत्र ने रविवार को समाचार एजेंसी एसोसिएटेड प्रेस ऑफ पाकिस्तान को बताया, “पाकिस्तान ने पीटीआई (पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ) सरकार के पहले साल के दौरान सऊदी अरब से 1,245 कैदियों और अमीरात से 1,200 कैदियों की रिहाई करवाई, जो अभूतपूर्व है।”

इतने कैदी बंद थे
सूत्र ने कहा कि जब पीटीआई सरकार सत्ता में आई तो सऊदी जेल में लगभग 3,300 पाकिस्तानी कैद थे, जबकि 2,521 यूएई में जेल की सजा काट रहे थे।

हालांकि, सरकार ने सऊदी अरब और यूएई की जेलों में कुल पाकिस्तानी कैदियों में से करीब 38 प्रतिशत और 48 प्रतिशत की रिहाई सुनिश्चित कर दी।

उन्होंने कहा कि सरकार ने छोटे-मोटे अपराधों के कारण मध्यपूर्व के देशों में जेल में बंद 2,559 पाकिस्तानी कैदियों को वित्तीय और कानूनी सहायता दी, ताकि उनकी जल्द रिहाई सुनिश्चित की जा सके।

सूत्र ने कहा कि सऊदी अरब और यूएई के अलावा, करीब 55 पाकिस्तानी कैदियों को ओमान से, 18 को कुवैत से, 17 को बहरीन से, 14 को कतर से और 10 को इराक से रिहा किया गया।

मंत्रालय ने शिविरों में फंसे मलेशिया के 320 यात्रियों, थाईलैंड के 1,600 यात्री जो हाल के दिनों में हवाईक्षेत्र के बंद होने के कारण फंस गए थे, इराक के 28 चालक और अनैतिक मकसद से मध्यपूर्व में पांच से अधिक तस्करी किए गए बच्चों के स्वदेश लौटने की भी व्यवस्था की।

Top Stories