Monday , December 11 2017

ईरान में आतंकी हमला अमेरिका ने इजरायल के साथ मिलकर कराया है: मुस्लिम धर्मगुरु

ईरान हमले पर शिया धर्मगुरु और मजलिस-ए-हिंद के अध्यक्ष मौलाना कल्बे जव्वाद नकवी ने दुख ज़ाहिर किया है।

नकवी ने कहा, “दुनिया में एकमात्र ईरान ऐसा इस्लामी देश है, जहां आतंकवादी हमलों पर सरकार का पूरा नियंत्रण था। लेकिन, अमेरिका और इजरायल की गुलामी करने वाले मुसलमान देशों के समर्थन के बाद अब ईरान को भी आतंकवाद की आग में जलाने की कोशिश हो रही है।”

मौलाना ने कहा, “अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के सऊदी अरब दौरे और इस्लामी देशों के साथ उनकी बातचीत का उद्देश्य ईरान के खिलाफ तथाकथित इस्लामी सरकारों को एकजुट करना था।

उन्होंने आगे कहा कि ट्रंप के सऊदी अरब दौरे के बाद ईरान में आतंकवादी हमले का होना बताता है कि आतंकवाद का पूरा नेटवर्क अमेरिका, इजरायल और सऊदी अरब के सहयोग से चलता है।

बता दें कि बुधवार को ईरान में दो जगहों पर आतंकियों ने हमला किया। दोनों हमलों की जिम्मेदारी इस्‍लामिक स्‍टेट ने ली है। इन हमलों में 12 लोगों की मौत और 39 से ज्‍यादा लोगों के मरने की खबर है।

पहला हमला ईरानी संसद पर तीन बंदूकधारियों ने किया। वहीं दूसरा हमला दक्षिणी तेहरान की खुमैनी दरगाह पर हुआ।

TOPPOPULARRECENT