Tuesday , June 19 2018

सामाजिक बहिष्कार के बाद पलायन को मजबूर मुसलमान, मस्ज़िद में ले रखी है शरण

प्रतीकात्मक तस्वीर

जमशेदपुर के पोखरिया गांव से मुलसमानों का पलायन जारी है। अभी शब-ए-बरात के दिन ही दहशत और तमाम परेशानियों के बीच यहाँ के 10 मुस्लिम परिवार ने गाँव से पलायन किया था। इस बीच अब खबर है कि शुक्रवार को और दो परिवार ने भी गाँव छोड़ दिया।

फिलहाल सबने कपाली के हासिम मस्ज़िद को अपना नया ठिकाना बना लिया है।

दरअसल मुसलमानों की गाँव से पलायन की वजह ग्रामीणों द्वारा इनका राशन-पानी बंद कर देना। चाय तक नसीब नहीं हो रही है। एक तरह से इनका सामाजिक बहिष्कार कर दिया गया है।

अगर गाँव का कोई इनसे बात करने की हिमाकत करेगा तो उसपर पांच हजार रुपए का जुर्माना देना होगा।

मामला कुछ यूँ है कि 65 साल के असगर अली पर आरोप लगा था कि उन्होंने तरणी महतो के परिवार की महिला से गलत काम किया है। इसके बाद उनके घर में आग लगा दी गई थी। प्राथमिकी दर्ज हुई और असगर अली को जेल भेजा गया. आग लगाने वालों के खिलाफ पुलिस ने मुकदमा किया है।

अब सामाजिक बहिष्कार कर मुस्लिम परिवारों पर दबाव डाला जा रहा है कि जब तक मुकदमा वापस नहीं होगा तब तक उन लोगों का हुक्का पानी बंद रहेगा।

वहीँ, मुस्लिमों को सार्वजनिक तालाब में नहाने पर पाबंदी लगा दी गई है। बार-बार जान से मारने की धमकी दी जा रही है।

इस मामले में पूर्वा सिंहभूम के एसएसपी अनूपटी मैथ्यू ने कहा कि पोखरिया गांव में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। जो लोग गांव छोड़ कर गए हैं, उनके रहने का इंतजाम किया जाएगा. न्यायसंगत कार्रवाई होगी।

 

TOPPOPULARRECENT