नई सरकारी बिल्डिंग में क़ुरआन पढ़ाने को लेकर विवाद, मुस्लिम कर्मचारी फरार!

नई सरकारी बिल्डिंग में क़ुरआन पढ़ाने को लेकर विवाद, मुस्लिम कर्मचारी फरार!

उत्तर प्रदेश में औरैया जिले के अजीतमल में नवनिर्मित तहसील भवन में कुरान पढ़वाने का वीडियो वायरल होने के बाद से विवाद शुरू हो गया है। वीडियो पर सांसद, विधायक ने अपत्ति दर्ज कराई है। बवाल होते ही कुरान पढ़वाने वाला सरकारी नाजिर, लईक अहमद मोबाइल बंद करके गायब हो गया है।

खास खबर पर छपी खबर के अनुसार, मामला गरमाता देख जिलाधिकारी ने पूरे मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं। दूसरी ओर तहसीलदार ने इसे अनुशासनहीनता मानते हुए विभागीय कार्रवाई के लिए डीएम को पत्र लिखा है।

तहसील भवन में अपर मुख्य सचिव महेश गुप्ता के आदेश से 10 दिसंबर से काम शुरू होना है। पुराने तहसील से सामान लाया जा रहा है। सोमवार को एसडीएम अजीतमल की कोर्ट में कारी रेहान समेत छह मौलानाओं को बुलाकर कुरान ख्वानी करा दी गई।

वहां मौजूद लोगों में किसी ने उसका वीडियो बनाकर वायरल कर दिया। वीडियो का संज्ञान लेते हुए इटावा सांसद रामशंकर कठेरिया और क्षेत्रीय विधायक रमेश दीवाकर ने इस पर कड़ी अपत्ति जताई है।

इसके बाद जिलाधिकारी ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं। देर शाम रिपोर्ट मिलने के बाद डीएम ने नाजिर को निलंबित करने की बात कही है।

एसडीएम राशिद अली खान कानपुर में 28 नवंबर से चल रही पुलिस भर्ती में ड्यूटी पर हैं। मौके की पड़ताल में पता लगा कि नए तहसील भवन के सामने कब्रिस्तान है।

चर्चा है कि इसके सामने कुछ देर रुकने वाला बीमार हो जाता है। इसी दोष को दूर करने के लिए नाजिर ने इमाम से बात कर कुरान पढ़वाई। कर्मचारियों ने कुरान पढ़ते देखकर रोका भी था, लेकिन नाजिर नहीं माने। एडीएम ने बताया कि इमाम को पूछताछ के लिए बुलाया गया है। वह जल्द डीएम को रिपोर्ट देंगे और दोषी पर कार्रवाई तय है।

जिलाधिकारी अभिषेक सिंह ने कहा कि “उद्घाटन के समय आयोजन इमारत के अन्दर नहीं कराए जाते हैं। नई इमारत में सरकारी दस्तावेज पहुंचने शुरू हो गए हैं।

ऐसे में वहां पर बाहरी लोगों को ले जाना अनुशासनहीनता है। जांच के दौरान कई गड़बड़ियां मिली हैं। रिपोर्ट के आधार पर नाजिर के खिलाफ कार्रवाई होगी।”

Top Stories