Friday , April 20 2018

हमले में घायल RSS कार्यकर्ता शरद मादीवाला को मुस्लिम शख्स ने पहुंचाया था अस्पताल

आरएसएस कार्यकर्ता शरद मादीवाला की मौत के बाद दक्षिण कन्नड़ जिले के बंतवाल जिले में उनका अंतिम संस्कार किया गया। इसमें शामिल होने आये लोगों में से कुछ ने वहां हिंसा का माहौल पैदा कर दिया।

दरअसल वे लोग कथित तौर पर पुलिस से उलझ गए थे और उन्होंने पत्थरबाजी भी की थी।

इस स्थिति को कंट्रोल में करने के लिए पुलिस ने लाठी चार्ज भी किया था। पुलिस ने हिंसा कर रहे 30 लोगों को पकड़ा। जिसमें बीजेपी सांसद शोभा करनडालजे और नलिन कुमार कतिल भी शामिल थे। उन लोगों पर विरोध और हिंसा करने का आरोप था।

आरएसएस कार्यकर्ता शरद मादीवाला पर 4 जुलाई की रात को उनपर उस समय हमला हुआ था जब वह अपनी लाउंड्री शाप के बाद घर जा रहे थे। इस बीच 3 लोग बाइक पर सवार होकर आये और उन्होंने मादीवाला पर हमला कर दिया।

उनपर हमले के बाद पास में फल बेचने वाले अब्दुल रौउफ मादिवाला को हॉस्पिटल लेकर गए थे। शुक्रवार की रात को मादिवाला की मौत हो गई।

इस मामले में मादीवाला के पिता का कहना है कि यहाँ पर ऐसी घटनाएं बढ़ रही है। उनको पुलिस पर भरोसा नहीं है कि वे लोग उनके बेटे के कातिल को ढूंढ पाएंगे। जब पुलिस पहले के मामलों को ही नहीं सुलझा पाई तो उनके बेटे को न्याय कहां से दिलाएगी ?

 

TOPPOPULARRECENT