मुस्लिम महिलाओं का गैर मर्दों से चूड़ियां पहनना शरियत के ख़िलाफ़: दारुल उलूम देवबंद

मुस्लिम महिलाओं का गैर मर्दों से चूड़ियां पहनना शरियत के ख़िलाफ़: दारुल उलूम देवबंद

देवबंद: प्रसिद्ध धार्मिक दर्सगाह दारूल उलूम देवबंद ने फतवा जारी करके कहा है कि मुस्लिम महिलाओं का घर के बाहर गैर मर्दों के हाथों से चूड़ियां पहनना शरियत के खिलाफ है। दारुल उलूम के फतवा विभाग के अध्यक्ष मुफ्ती हबीबुर्रहमान खैराबादी ने आज यहां बताया कि एक व्यक्ति ने संस्था के दारुल इफ़ता से लिखित सवाल किया था कि महिलाओं को चूड़ियां पहनने के लिए अपने हाथ गैर मर्दों के हाथ में देने पड़ते हैं, क्या यह उचित है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

जवाब में दारुल उलूम दारुल इफ्ता ने कहा कि गैर मर्दों के हाथों से चूड़ियाँ पहनना सख्त गुनाह है। इससे हर मुस्लिम महिलाओं को बचना चाहिए। दारुल उलूम इससे पहले महिलाओं के बाल कटवाने, भोएँ बनवाने, मिनी स्कर्ट और जींस पहनने, गैर मर्दों के साथ रोजगार करने से संबंधित महिलाओं पर प्रतिबन्ध लगाने का फतवा भी जारी कर चुका है।

Top Stories