Monday , February 19 2018

मुसलमान चर्च और यहूदी इबादतगाह में नमाज अदा कर सकते हैं: सऊदी उलेमा काउंसिल

रियाद: सऊदी अरब के सीनियर उलेमा काउंसिल के सदस्य अब्दुल्लाह बिन सुलेमान ने एक फतवा जारी करते हुए कहा कि मुसलमान गिरजा घरों और यहूदी इबादतगाह में नमाज अदा करना जायज़ है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

उनहोंने एक तारीखी हवाला देते हुए कहा कि पैगम्बरे इस्लाम ने नजरान से आने वाले ईसाई दल मस्जिद में मुलाकात की और उन्हें इसमें युरोश्लम की तरफ मुंह करके नमाज पढ़ने की इजाजत दी।

कुवैत के एक न्यूज़ पेपर अख्बरुल अंबिया में प्रकाशित फतवा में शेख अल्मानी का कहना था कि मुस्लिम, शिया, सूफी मस्जिदों सहित चर्च और यहूदी इबादतगाहों में नमाज अदा कर सकते हैं। उनहोंने कहा कि हदीश मुबारक की रौशनी में सारी जमीन अल्लाह की मिल्कियत है।

अब्दुल्लाह बिन सुलेमान ने आगे यह भी कहा कि इस्लाम रहमदीली और बरदाश्त करने वाला मजहब है। इसमें हिंसा, असहिष्णुता और आतंकवाद का थोड़ा सा भी गुंजाइश नहीं है। शेख-उल-इस्लाम ने मुसलमानों पर जोर दिया कि उन्हें इस्लाम के प्रचार प्रसार में बढ़ चढ़ कर भाग लें और नबी की रहमत की इस सुन्नत के अनुसार जिंदगी गुजारें।

TOPPOPULARRECENT