सांप्रदायिक सौहार्द की मिसाल- एक ही पंडाल के अंदर गणेश आरती और अजान

सांप्रदायिक सौहार्द की मिसाल- एक ही पंडाल के अंदर गणेश आरती और अजान
Click for full image

थाने : भारत के लोग समय-समय पर सांप्रदायिक सौहार्द की मिसाल कायम करते रहे हैं। ऐसा ही एक मामला फिर से महाराष्ट्र के थाने से सामने आया है। थाने के मुंब्रा गांव के निवासी सांप्रदायिक सौहार्द की सुखद मिसाल कायम कर रहे हैं। दरअसल यहां पर रहने वाले हिंदू और मुस्लिम दोनों समुदाय के लोग एक ही पंडाल के अंदर अपनी-अपनी धार्मिक रिचुअल्स परफॉर्म कर रहे हैं। उनमें धार्मिक सहिष्णुता देखकर हर कोई उनकी तारीफ कर रहा है।

एकता मित्र के नाम से बनाए गए पंडाल में जहां हिंदू गणेश आरती कर रहे हैं वहीं उसी पंडाल में मुस्लिम भी एक तरफ अजान की प्रक्रिया पूरी कर रहे हैं। बता दें कि महाराष्ट्र में अभी गणेश उत्सव की धूम चल रही है। वहीं दूसरी तरफ मुसलमानों का त्यौहार मुहर्रम भी है।

मीडिया से बात करते हुए एक निवासी ने बताया कि हम ऐसे आयोजनों में एक ही माइक का इस्तेमाल करते हैं। और अच्छी बात ये है कि लाउडस्पीकर और आयोजक भी हमारे अपने-अपने धार्मिक कार्यों में मदद कर रहे हैं।

पंडाल के अंदर मौजूद एक अन्य रहवासी ने बताया कि हिंदू और मुस्लिम के बीच किसी प्रकार का कोई मतभेद नहीं है। ये तो राजनेता ही हैं जो लोगों को भड़काते हैं और चुनाव के पहले अपने फायदे के लिए हमारे बीच दरार पैदा करने की कोशिश करते हैं।

हमारे गांव में हर धर्म, जाति के लोग रहते हैं और इस तरह के आयोजनों में एक साथ भाग लेते हैं। एसीपी रमेश धुमल ने एकता मित्र पंडाल के इस प्रयास की सराहना की। उन्होंने कहा कि ऐसे कार्यक्रम दो समुदायों के बीच के संबंधों को मजबूत करेगा और दुनिया के दूसरे भागों में सांप्रदायिक सौहार्द का सकारात्मक संदेश पेश करेगा।

Top Stories