राम मंदिर पर मोहन भागवत का बयान सुप्रीम कोर्ट को चुनौती है- मुस्लिम संगठन

राम मंदिर पर मोहन भागवत का बयान सुप्रीम कोर्ट को चुनौती है- मुस्लिम संगठन
Click for full image

नई दिल्ली। मुस्लिम संगठनों ने राष्ट्रीय स्वयं सेवक प्रमुख मोहन भागवत के राम मंदिर पर दिए बयान पर कड़ा एतराज जताया है। इस तरह की संवेदनशीलत बयान को लेकर मुस्लिम समाज ने आलोचना की है। मोहन भागवत का यह बयान समाज को बांटने जैसा बताया जा रहा है। ममोहन भागवत के इस बयान को लेकर मुस्लिम संगठनों ने अपनी राय दी है।

साथ ही उनके इस बयान को सुप्रीम कोर्ट को चुनौती करार दिया है। अयोध्या विवाद के मुस्लिम संगठनों ने सवाल उठाया कि मामला सुप्रीम कोर्ट में है, उसमें आरएसएस पक्षकार भी नहीं है, तो भागवत कौन होते हैं इस मामले को तूल देने वाले।

गौरतलब है कि राम मंदिर मुद्दे पर मोहन भागवत ने बयान दिया है। कर्नाटक के उड़पि में चल रही धर्मसंसद के दौरान मोहन भागवत ने कहा कि राम मंदिर सिर्फ राम जन्मभूमि पर ही बनेगा।

बता दें, सुप्रीम कोर्ट में 5 दिसंबर से अयोध्या मामले पर आखिरी सुनवाई होने जा रही है। ऐसे समय में उससे पहले राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के इस तरह की गलत बयानबाजी को कई तरह से देखे जा रहे हैं।

Top Stories