नहीं पढ़ी गई जुमे की नमाज़, मस्जिदों से मुसलमानों ने दूरी बनाई!

नहीं पढ़ी गई जुमे की नमाज़, मस्जिदों से मुसलमानों ने दूरी बनाई!

कानपुर में जुमा के मौके पर लोगों ने मस्जिद जाने के बजाए अपने घरों में ही जोहर की नमाज अदा की। मस्जिदों से अजान दी गई और दो-तीन लोगों ने ही जुमा नमाज की रस्म अदायगी कर ली।

 

तमाम मस्जिदों के बाहर पुलिस तैनात रही। जो लोग घर से निकले उन्हें घर में ही नमाज पढ़ने के लिए कहा गया। शहर काजियों और प्रशासन ने लोगों से अपील की थी कि लॉकडाउन का पालन करें और घरों में ही जुमे की नमाज अदा करें।

नहीं पढ़ी गई जुमे की नमाज़, मस्जिदों से मुसलमानों ने दूरी बनाई! 1

प्रशासन की अपील का लोगों ने मान रखा और घरों में ही जुमे की नमाज पढ़ी। बताते चलें कि शहर काजियों की अपील संबंधी वीडियो गुरुवार से ही सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे थे।

नहीं पढ़ी गई जुमे की नमाज़, मस्जिदों से मुसलमानों ने दूरी बनाई! 2

शहर पुलिस के सहयोग से मस्जिदों के प्रबंधन ने शुक्रवार को सामाजिक दूरी के सख्त कार्यान्वयन के साथ मनाया। या तो मस्जिदों ने शुक्रवार की नमाज के आयोजन से परहेज किया या फिर नमाज अदा करने वालों ने सुनिश्चित किया कि पांच या छह से ज्यादा लोग वहां न हों।

 

नहीं पढ़ी गई जुमे की नमाज़, मस्जिदों से मुसलमानों ने दूरी बनाई! 3

 

हैदराबाद में कई सौ मस्जिदें हैं। इनमें से ज्यादातर बंद ही रह गए हैं। उनमें से कुछ के पास मुज़्ज़िन नाम का एक व्यक्ति था जो प्रार्थना के लिए फोन करता था, अपनी प्रार्थना कहता था और मस्जिद को बंद करके घर चला जाता था।

 

 

यह अभ्यास सामाजिक गड़बड़ी का हिस्सा है जिसे कोरोनोवायरस के प्रकोप को देखते हुए देशव्यापी लागू किया जा रहा है। हैदराबाद में, कम से कम एक दर्जन व्यक्तियों की घातक बीमारी से मृत्यु हो गई है।

 

चारसेटिन के पास ऐतिहासिक मक्का मस्जिद का दौरा करने वाले Siasat.com रिपोर्टर ने केवल दो दर्जन लोगों को नमाज अदा करते पाया। संपूर्ण प्रार्थना, एक अभ्यास जो सामान्य रूप से 30 से अधिक में फैला हुआ है, उस समय के आधे से भी कम समय में पूरा हो गया था।

 

सरकार ने क्षेत्र में शांति और शांति बनाए रखने के लिए रैपिड एक्शन फोर्स के सदस्यों सहित पुलिसकर्मियों की एक बड़ी भीड़ तैनात की थी। पुलिस की मौजूदगी के लिए हतोत्साहित करने वाला कारक था, जिसने मक्का मस्जिद में नमाज़ पढ़ने और बाहर जाने की कोशिश की हो सकती है।

 

इस बीच, पुलिसकर्मियों को पहली बार प्रत्येक कर्मियों के बीच तीन फीट से अधिक की सामाजिक दूरी बनाए रखते हुए देखा गया।

Top Stories