Tuesday , April 24 2018

दुनियां के मुसलमान एकजुट होकर सीरिया के हालात को ठीक करने में अपनी भूमिका निभाएं: फारूक अब्दुल्लाह

एक सीरियाई पिता अपनी 6-वर्षीय बेटी अया के शरीर को चूमता हुआ, जो सीरिया की राजधानी दमिश्क के पास ज़मालका में अंतिम संस्कार के लिए ले जाया जा रहा है।

श्रीनगर: नेशनल कांफ्रेंस के अध्यक्ष व सांसद डॉक्टर फारूक अब्दुल्लाह ने सीरिया के हालात को मुसलमानों के लिए फ़िक्र का लम्हा बताया। उन्होंने गुरुवार को यहाँ अपनी निसास पर घाटी की विभिन्न क्षेत्रों से आये हुए जनता के प्रतिनिधि मंडल, पार्टी नेताओं और अधिकारीयों के साथ चर्चा करते हुए कहा कि मुसलमानों का गढ़ बिखेरने में अमेरिका और रूस यहूदी शक्तियों के साथ मिलकर काली भूमिका निभा रहे हैं, सीरिया में जारी नरसंहार को देखकर एक इंसान का कलेजा फटने को आता है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

दूध पीते बच्चों की लाशें देखकर इंसानियत कांप उठती है, यह सब कुछ मुसलमानों के बीच पाई जा रही फूट एकता की कमी का नतीजा है। इस मौके पर पार्टी के सीनियर उपाध्यक्ष एडवोकेट चौधरी मोहम्मद रमजान, महिला विंग की राज्य अध्यक्ष शमीमा फिरदोस मौजूद थी।

फारूक अब्दुल्लाह ने दुनियां के मुसलमानों से अपील की है कि वह आपसी मतभेदों को भुलाकर मुसलमानों को पेश चैलेंज का सामना करने के लिए एक प्लेटफार्म पर आयें। एकजुट होजाएं और सीरिया में हो रहे नरसंहार को त्वरित बंद करवाने में आपनी भूमिका निभाएं।

TOPPOPULARRECENT