Thursday , September 20 2018

सेंसर बोर्ड का डायरेक्टर को फरमान- बंगाली फिल्म के गाने में इस्तेमाल किए गए ‘मुसलमान’ शब्द को म्यूट करें

सेंसर बोर्ड ने एक बंगाली फिल्म के गाने में इस्तेमाल किए गए ‘मुसलमान’ शब्द को म्यूट करने के लिए कहा है। सेंंसर बोर्ड के इस फैसले से फिल्म के डायरेक्टर हैरानी में हैं। सेंसर बोर्ड ने बंगाली फिल्म ‘चिरोदिनेर एक ओन्नयो प्रेमेर गोलपो’ के गाने से मुसलमान शब्द को म्यूट करने के लिए कहा है। इस फिल्म के डायरेक्टर रंजन चौधरी हैं। समाचार एजेंसी एएनआई से फिल्म के निर्देशक रंजन चौधरी ने कहा- ”इसको म्यूट करने का कोई कारण नहीं है। नहीं पता कि ऐसा क्यों किया जा रहा है। जब मैंने उनसे पूछा तो मुझे कहा गया कि वे मेरे लिए जवाबदेह नहीं हैं। मैं संशोधन समिति के पास जाऊंगा।” मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सेंसर बोर्ड ने फिल्म के गाने में मुसलमान शब्द को म्यूट करने के अलावा सात और कट लगाने के लिए बोला है। रिपब्लिक टीवी के मुताबिक आर चौधरी ने सेंसर बोर्ड के निर्देश को स्वीकार करने से इनकार कर दिया है और मामले को कोर्ट ले जाने के लिए कहा है।

सेंसर बोर्ड ने फिल्म के एक आइटम गाने को भी हटाने के लिए कहा है। रंजन चौधरी ने बताया कि जब उन्होंने सेंसर बोर्ड से कट लगाने के पीछे की वजह जाननी चाही तो उन्हें कुछ भी बताने से इनकार कर दिया गया। रंजन चौधरी ने कहा कि उनकी फिल्म हिन्दू और मुसलमान के संबंध पर आधारित है जो कि साम्प्रदायिक सद्भाव का संदेश देती है। बता दें कि हाल ही में सेंसर बोर्ड के कोलकाता ऑफिस में हंड़कंप मचा था। एक निर्देशक ने सेंसर बोर्ड के अध्यक्ष प्रसून जोशी को ईमेल लिखा जिसमें कहा गया था कि जब से उन्होंने ऑनलाइन सर्टिफिकेशन के लिए अप्लाई किया, 76 दिन दिन हो गए है, उनका उत्पीड़न किया जा रहा है।

ईस्टर्न इंडिया मोशन पिक्चर्स एसोसिएशन की तरफ से एक और शिकायत की गई थी कि सेंसर बोर्ड के क्षेत्रीय अधिकारी सम्राट बंदोपाध्याय उन्हें धमकी दे रहे हैं। ‘मन छुए जाए’ फिल्म के निर्देशक तापस दत्ता ने 27 दिसंबर को फिल्म के सर्टिफिकेशन के लिए आप्लाई किया था, लेकिन गुरुवार (22 फरवरी) को उन्हें यह मिला। निर्देशकों की शिकायतों पर बंदोपाध्याय ने आरोपों से इनकार किया था।

TOPPOPULARRECENT