मुज़फ्फरनगर दंगा मामला: योगी सरकार का मुक़दमा वापस लेने की तैयारी

मुज़फ्फरनगर दंगा मामला: योगी सरकार का मुक़दमा वापस लेने की तैयारी
Click for full image

लखनऊ: पूरे देश को दहला देने वाले मुजफ्फर नगर दंगे के आरोपी पर से मुकदमे वापस लेने की तैयारियां तेज़ हो गई हैं। हैरान कर देने वाली बात यह है कि उन्हें अदालती कटघरे में खड़े होने से बचाने की यह पहल राज्य के सरकारी न्याय विभाग कर रहा है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

विभाग की स्पेशल सेक्रेटरी ने मुज़फ्फर नगर जिला मजिस्ट्रेट को बाजाब्ता एक पत्र लिखकर उनसे पुछा है कि क्या जनहित में यह मुक़दमे वापस लिए जा सकते हैं। 5 जनवरी को भेजे गए इस पत्र में स्पेशल सेक्रेटरी न्याय विभाग राज सिंह ने सभी 13 बिन्दुओं पर जिला मजिस्ट्रेट से जवाब माँगा है।

इस में सबसे खास बात यह है कि विभाग जनहित की बुनियाद पर यह मुकदमे वापस लेना चाहती है, इस संबंध में जिला के एसएसपी की भी राय मांगी गई है। हालाँकि, इस पत्र में किसी भी आरोपी का नाम नहीं है मगर फाइल नंबर वही है जो उन दंगों से संबंधित मामलों में कई भाजपा और भगवा नेता आरोपी हैं। उन आरोपियों में केन्द्रीय मंत्री साध्वी प्राची, मंत्री सुरेश राणा, पूर्व केन्द्रीय मंत्री संज्यु बालियान, एमपी भारतेंदो सिंह और विधायक उमेश मलिक जैसे बड़े नाम शामिल हैं।

Top Stories