दुनिया की पूरी तरह से अंतिम विनाश का गुप्त संकेत दिए नासा के वैज्ञानिक

दुनिया की पूरी तरह से अंतिम विनाश का गुप्त संकेत दिए नासा के वैज्ञानिक

खगोलविद ने उल्लेख किया कि क्या पृथ्वी के नाश होने के विवादित सिद्धांत रचने वालों के बावजूद, वैज्ञानिक बेकार बैठे और छिप जाएंगे, जबिक वो सच्चाई पहले से ही जानते हैं कि पृथ्वी बर्बाद होने के कागार पर है।

नासा में विज्ञान संचार के सहायक निदेशक मिशेल थेलर ने सबसे विश्वसनीय संकेतों में से एक का खुलासा किया कि पृथ्वी के सर्वनाश होने का संकेत वेबसाइट बिग थिंक पर आ रहा है। उनके अनुसार, “उस दिन सभी वैज्ञानिकों ने अपने क्रेडिट कार्ड को अधिकतम (उस बिंदु तक जिस पर और अधिक सुधार या लाभ नहीं हो सकता है) कर दिया और गायब हो गए” लोगों को चिंता शुरू करनी चाहिए। उसने समझाया कि वैज्ञानिक समुदाय में सामान्य मनुष्य होते हैं जो केवल इस ज्ञान के साथ काम पर नहीं बैठेंगे कि “दुनिया एक सप्ताह में समाप्त होने जा रही है”।

थेलर ने कहा कि नासा केवल आकाश को देखने वाला और संभावित खतरों की तलाश करने वाला नहीं है, और क्योंकि दुनिया भर के खगोलविद ऐसा कर रहे हैं, इसलिए आसन्न तबाही के बारे में सच्चाई को छुपाना असंभव होगा। उसने आश्वासन दिया कि पृथ्वी और क्षुद्रग्रह के बीच “सबसे खराब टक्कर” की थोड़ी सी भी संभावना में, नासा न केवल अधिकारियों को, बल्कि मीडिया को भी सूचित करेगा।

वैज्ञानिक ने कहा कि नासा वर्तमान में तरीकों पर काम कर रहा है ताकि न केवल संभावित खतरों के बारे में बताया जा सके, बल्कि उन्हें टाल दिया जाए। खगोलविद ने समझाया कि अंतरिक्ष वस्तुओं के प्रक्षेपवक्र में बदलाव करना और उन्हें ग्रह को याद करने और घातक प्रभाव से बचने के लिए मजबूर करना संभव है।

पिछले साल, नासा ने अपनी “नेशनल नियर-अर्थ ऑब्जेक्ट रेडीनेस स्ट्रेटजी एंड एक्शन प्लान” पेश की, जिसका उद्देश्य संभावित खतरनाक वस्तुओं को ढूंढना, उन पर नज़र रखना और टालना है जो पृथ्वी पर आघात कर सकते हैं और परिणामस्वरूप बड़े पैमाने पर विनाश हो सकता है। वर्तमान में सौर मंडल में लगभग 25,000 क्षुद्रग्रह हैं जो हमारे ग्रह को बड़े पैमाने पर नुकसान करने के लिए पर्याप्त हैं।

Top Stories