लॉकडाउन को लेकर नया गाइडलाइंस किया गया जारी!

लॉकडाउन को लेकर नया गाइडलाइंस किया गया जारी!

प्रशासन ने लॉकडाउन को और कड़ा करने का फैसला लिया है। जिसके तहत अब दवा लेने के लिए भी घर से बाहर निकलने की जरूरत नहीं होगी।

 

पत्रिका पर छपी खबर के अनुसार, मेडिकल स्टोर्स तो दिन भर खुलेेंगे पर उनके काउंटर पर दवा नहीं मिलेगी। बल्कि फोन पर आर्डर देने पर घर तक दवा पहुंचाई जाएगी।

 

प्रशासन ने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराने के लिए यह फैसला किया है।

 

अब राशन, फल और सब्जियों के अलावा अब मेडिकल स्टोर भी दवाओं की होम डिलीवरी करेंगे। थाना और वार्ड के अनुसार दुकानों की सूची तैयार कर ली गई है।

 

नगर निगम की वेबसाइट पर जल्द ही अपलोड कर दिया जाएगा। इसके बाद कनपुरिए वहां से मेडिकल स्टोर का नंबर देखकर होम डिलीवरी के लिए ऑर्डर कर सकेंगे।

 

बाकी महत्वपूर्ण वस्तुओं के लिए भी अगले 24 घंटे में होम डिलीवरी शुरू कराने की तैयारी हो चुकी है।

 

नगर आयुक्त अक्षय त्रिपाठी के मुताबिक 500 से ज्यादा मेडिकल स्टोर्स को चिह्नित किया जा चुका है। थाने और वार्ड के हिसाब से इन्हें अलग-अलग किया गया है।

 

स्टोर के नाम और फोन नंबर के साथ सूची थानेदारों को भी उपलब्ध करा दी गई है।

 

उन्होंने कहा कि मेडिकल स्टोर की यह सूची नगर निगम की वेबसाइट केएमसी.यूपी.एनआईसी.इन पर रविवार से दिखेगी। जब तक बहुत जरूरी न हो, लोग दवा लेने भी न निकलें। इसे घर पहुंचाया जाएगा।

 

शहर में राशन की 645 दुकानें होम डिलीवरी को तैयार हैं। दुकानदारों ने होम डिलीवरी के लिए प्रशासन से अनुमति पत्र प्राप्त कर लिया है।

 

दुकानदारों को अब थाने से पास लेना होगा। नगर आयुक्त के मुताबिक थानों में शनिवार देर शाम तक पास भिजवा दिए गए हैं। दुकानदार वहां जाकर पास ले सकता है और वह पास उसे अपनी दुकान पर लगाना होगा। लोग फोन पर ऑर्डर करेंगे और सामान उनके घर पर पहुंचेंगा।

 

होम डिलीवरी की पूरी व्यवस्था ठीक से शुरू होने में चार से पांच दिन का समय अनुमानित है। तब तक के लिए सुबह 4 से 11 आवश्यक वस्तुओं के बाजार खुलेंगे। इसी के साथ होम डिलीवरी की टेस्टिंग भी शुरू कर दी जाएगी।

 

शहर में फल और सब्जी मंडी मिलाकर 1234 स्थानों को चिह्नित किया गया है। इनकी सूची भी संबंधित थानों को भेज दी गई है। रविवार सुबह पुलिस टीम मंडी में उपस्थित रहेगी।

 

वहां पर मंडी नहीं लगने दी जाएगी। ठेले वाले जैसे ही पहुंचेंगे। वहां एनाउंसमेंट कराकर उन्हें इलाकों की तरफ फेरी लगाने के लिए भेज दिया जाएगा।

Top Stories