Monday , November 20 2017
Home / Education / NAVY मे नेविगेशन ऑफिसर बनना है तो करें नॉटिकल साइंस की पढ़ाई

NAVY मे नेविगेशन ऑफिसर बनना है तो करें नॉटिकल साइंस की पढ़ाई

image
नेवी में नैविगेशन ऑफिसर बनने के लिए नॉटिकल साइंस में ग्रैजुएशन होना चाहिए। बीएससी नॉटिकल साइंस या मैरीटाइम साइंस कोर्स करने के लिए फिजिक्स, केमिस्ट्री, मैथ्स और इंग्लिश में बारहवीं पास होना जरूरी है।

नॉटिकल साइंस समुद्री जहाज के संचालन और सुरक्षित रूप से नौपरिवहन करने की जानकारी देने वाला विषय है। आमतौर पर नॉटिकल साइंस और मरीन इंजीनियरिंग को एक ही विषय के तौर पर देखा जाता है, लेकिन ये एक दूसरे से अलग हैं।

मरीन इंजीनियरिंग समुद्री जहाज के ऑपरेशन, इंजन,बॉयलर्स, पम्प्स, कंप्रेशर और सभी तरह की ऑक्सीलियरीज के रखरखाव से संबंधित होती है।

वहीं नॉटिकल साइंस का संबंध यात्रा के दौरान जहाज के जलमार्ग, नॉटिकल चार्ट्स के अध्ययन, ब्रिज से शिप के नियंत्रण, नौकायन, बर्थिंग, डॉकिंग, डॉक संबंधी सभी गतिविधियों के साथ शिप कार्गो की लोडिंग और अनलोडिंग से होता है। इस विषय में बीएससी करने के बाद आप नेवी में नैविगेशन ऑफिसर के तौर पर करियर की शुरुआत कर सकते हैं।

DB

TOPPOPULARRECENT