Monday , December 18 2017

क्या नाज़ीन अंसारी उर्फ ‘पद्मावती देवी’ इसलाम को बदनाम करने के लिए साजिश के तहत काम कर रही है?

नाजनीन अंसारी उर्फ पद्मावती देवी, फरेब और ढ़ोंग की सीमा पार करती ये औरत पहले पैदाइशी हिन्दू थी बाद में इसने मुस्लिम युवक इक़बाल अंसारी से शादी कर मुसलमान बनी और नाम रखा नाजनीन अंसारी लेकिन इसकी अपने शौहर से भी ना बनी और जल्द ही तालाक़ ले लिया।

तालाक़ लेने के बाद भी इसने अपना नाम नही बदला, बुर्क़ा ओढ़-ओढ़ कर इस्लाम मज़हब को बदनाम करने की साजिश रचने का सिलसिला इसने क़रिब 2010 से शुरू किया।

बीजेपी आरएसएस के साथ मिलकर ये जिस साजिश के तहत काम कर रही है उसमें ये अपने क्षेत्र लल्लापुरा की हिन्दू धर्म की ही और बामुश्किल एक-दो बहुत ही गरीब मुस्लिम औरत जिनको इस्लाम की ज़रा सी भी जानकारी नहीं जिनका उनके रिश्तेदारों से भी नही बनती जो बिल्कुल अकेले रहती है दुसरों के घरों में बर्तन धोती हैं।

ऐसी भोली-भाली गरीब असहाय औरतों को थोड़े से पैसे से खरीदकर बुर्का पहना मुस्लिम औरतों की तरह पेश कर मूर्ति पूजा करते हुये दिखाती है, ताकि मुस्लिमों के दिल को ठेस पहुँच सके और हिन्दू खुश हो सके व इस्लाम के खिलाफ बोलने का मौका मिल सके।

बीजेपी आरएसएस के एजेंडे पर काम कर रही ये बहरूपिया औरत मुस्लिमों और ख़ासकर मुस्लिम औरतों को गुमराह कर

TOPPOPULARRECENT