नेशनल कॉनफ्रेंस के दिग्गज नेता जुनैद आजीम मट्टू ने पार्टी से दिया इस्तीफा

नेशनल कॉनफ्रेंस के दिग्गज नेता जुनैद आजीम मट्टू ने पार्टी से दिया इस्तीफा

नेशनल कांफ्रेंस (नेकां) के प्रवक्ता जुनैद आजीम मट्टू ने स्थानीय निकाय चुनावी के बहिष्कार के नेकां के निर्णय से असहमति जताते हुए मंगलवार को पार्टी सदस्यता से इस्तीफा दे दिया। मट्टू ने कहा कि वह लोगों की सेवा करने के लिए श्रीनगर जिले से स्थानीय चुनाव लड़ना चाहते हैं।

मट्टू ने ट्वीट किया, ‘‘आगामी स्थानीय शहरी निकाय (यूएलबी) और पंचायत चुनावों का बहिष्कार करने के पार्टी के निर्णय से अपनी विनम्र असहमति के आधार पर मैंने पार्टी से अपना इस्तीफा जेकेएनसी के महासचिव को भेज दिया है।’’

उन्होंने आरोप लगाया कि जमीनी स्तर की लोकतांत्रिक संस्थाओं को ‘गलत प्रतिनिधियों’ के लिए छोड़ना राज्य को बहुत नुकसान पहुंचाएगा। यह सामाजिक ताने-बाने और सांस्कृतिक विरासत को नुकसान पहुंचाएगा।

उन्होंने कहा, ‘‘इंशा अल्लाह में कल श्रीनगर से यूएलबी चुनावों के लिए अपनी उम्मीदवारी की घोषणा करूंगा।’’ उन्होंने कहा कि वह आज मीडिया से मुखातिब नहीं होंगे या किसी सवाल का जवाब नहीं देंगे।

मट्टू ने सजाद गनी लोन के नेतृत्व में पीपुल्स कॉन्फ्रेंस के साथ अपने राजनीतिक करियर की शुरूआत की थी। बाद में लोन ने अलगाववादी राजनीति छोड़ दी और 2009 में मुख्यधारा की राजनीति में आ गए। मट्टू ने 2013 में लोन का साथ छोड़ दिया और नेशनल कांफ्रेंस में शामिल हो गए।

Top Stories