Saturday , May 26 2018

NCTC को ज़ेर-ए-इलतिवा रखने जया ललीता का मुतालिबा

मग़रिबी बंगाल की वज़ीर-ए-आला ममता बनर्जी के बाद अब वज़ीर-ए-आला तमिलनाडू जया ललीता ने भी मर्कज़ से ख़ाहिश की है कि वो NCTC की तशकील में उजलत से काम ना ले और फ़िलहाल इसे ज़ेर-ए-इलतिवा रखा जाए। वज़ीर-ए-आज़म मनमोहन सिंह को तहरीर कर्दा एक मकतूब में

मग़रिबी बंगाल की वज़ीर-ए-आला ममता बनर्जी के बाद अब वज़ीर-ए-आला तमिलनाडू जया ललीता ने भी मर्कज़ से ख़ाहिश की है कि वो NCTC की तशकील में उजलत से काम ना ले और फ़िलहाल इसे ज़ेर-ए-इलतिवा रखा जाए। वज़ीर-ए-आज़म मनमोहन सिंह को तहरीर कर्दा एक मकतूब में उन्होंने अपने ताज्जुब का इज़हार करते हुए कहा कि 16 मार्च को वुज़राए आला का एक इजलास मुनाक़िद किया गया था, जहां दाख़िली सीक़्योरीटी बिशमोल नैशनल काउंटर टूरीज्म सेंटर (NCTC) पर तफ़सीली बातचीत हुई लेकिन बाक़ौल जया ललीता, वज़ीर-ए-आज़म को इस हस्सास मौज़ू पर तबादला-ए-ख़्याल के लिए वुज़राए आला का एक अलैहदा इजलास मुनाक़िद करना चाहीए। ये इंतिहाई बद बख्ताना बात है कि मुखतलिफ़ रियास्तों के वुज़राए आला के नज़रियात और जज़बात को यकसर नजर अंदाज़ करते हुए NCTC पर अमल आवरी की कोशिश की जा रही है। लिहाज़ा ज़रूरत इस बात की है कि NCTC की तशकील को फ़िलहाल ज़ेर-ए-इलतिवा रखते हुए, सिर्फ इसी मौज़ू पर तफ़सीली तबादला-ए-ख़्याल के लिए वुज़राए आला का एक अलहदा इजलास मुनाक़िद किया जाए। उन्होंने कहा कि क़ब्लअज़ीं भी उन्होंने इस मुआमला की मुख़ालिफ़त की थी और वज़ारत-ए-दाख़िला की दफ़्तरी याददाश्त के कुछ नकात उनके लिए काबिल‍ ए‍ कुबूल नहीं थे जिसका ताल्लुक़ NCTC तशकील और इस पर अमल आवरी से था कि किस तरह वुज़राए आला को एतेमाद में लिए बगै़र NCTC की तशकील की कोशिश की गई। अपने मकतूब में उन्होंने आगे चल कर तहरीर किया है कि वज़ीर-ए-आज़म को NCTC की तशकील के मुताल्लिक़ दीगर वुज़राए आला ने भी अपनी मुख़ालिफ़त से आगाह कर दिया था।

TOPPOPULARRECENT