NEET रजिस्ट्रेशन- ये होंगे प्रोसेस में बदलाव, यहाँ चेक करें डिटेल

NEET रजिस्ट्रेशन- ये होंगे प्रोसेस में बदलाव, यहाँ चेक करें डिटेल

NEET 2020: MBBS/MD कोर्स में दाखिले के लिए नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (NEET) 3 मई 2020 को होगा. नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (National Testing Agency) इस टेस्ट को दूसरी बार आयोजित करेगी. इसके लिए एप्लीकेशन प्रोसेस 2 दिसंबर से शुरू होकर 31 दिसंबर तक चलेगा. इंटरेस्टेड कैंडिडेट्स ntaneet.nic.in के जरिए अप्लाई कर सकते हैं. लेकिन नेशनल टेस्टिंग एजेंसी में इस बार नीट के रजिस्ट्रेशन प्रोसेस में कई बदलाव किए जाएंगे. दरअसल तमिलनाडु के करीब छह हजार संदिग्ध स्टूडेंट्स के एंट्रेंस टेस्ट देने पर सवाल उठे. जिसके बाद कई बदलाव प्रस्तावित हैं.

नीट के रजिस्ट्रेशन प्रोसेस के लिए जो बदलाव प्रस्तावित हैं उन पर सहमति बन चुकी है. खबरों में कहा जा रहा है कि नीट का इंफॉरमेशन ब्रोशर जारी होने से बदलावों पर अधिकारिक मुहर लग जाएगी. नीट का इंफॉरमेशन ब्रोशर दो दिसंबर को जारी किया जाएगा. जानें क्या हो सकते हैं बदलाव.

नीट के इंफॉरमेशन ब्रोशर में लेटेस्ट फोटो की बात ही लिखी जाती है. लेकिन बदलाव यह होगा कि छात्रों को रजिस्ट्रेशन फॉर्म में लाइव फोटो अपलोड करनी होगी. इस मुताबिक स्टूडेंट्स को फॉर्म भरते समय फोटो खींचकर अपलोड करनी होगी. यह वेबकैम से जरिए एक्सटर्नल की मदद से भी क्लिक की जा सकती है. लाइव फोटो से पता चल पाएगा जिस स्टूडेंट ने फॉर्म भरा, वही एग्जाम में बैठा है. संदेह में छात्र को परीक्षा देने से भी रोका जा सकता है.

-इस साल रजिस्ट्रेशन फॉर्म में 10वीं, 12वीं बोर्ड का रोल नंबर भी लिखना होगा.
-स्टूडेंट रजिस्ट्रेशन के समय जो आईडेंडिटी कार्ड अपलोड करेगा, परीक्षा केंद्र पर वही लेकर जाना होगा.

 

एनटीए की ओर से एडमिट कार्ड जारी होने के बाद 12वीं के स्टूडेंट्स के लिए फिर से रजिस्ट्रेशन विंडो ओपन किया जाएगा, ताकि वे अपना रोल नंबर भर पाएं. बोर्ड की क्लासेज के एडमिट कार्ड, नीट रजिस्ट्रेशन के बाद जारी होते हैं.

बता दें कि अगले साल से नीट के स्कोर पर एम्स (AIIMS) और जिपमेर (JIPME) में भी दाखिला मिलेगा.

 

NEET 2020 एग्जाम पैटर्न
नीट एग्जाम 3 घंटे का होता है. इस पेपर में तीन सेक्शन होते हैं- फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी. तीनों सेक्शन से कुल 180 सवाल होते हैं. जिसमें से 90 सवाल बायोलॉजी से होते हैं, 45-45 फिजिक्स, केमिस्ट्री से. तैयारी के नज़रिए से देखें तो इसके सिलेबस में 11वीं, 12वीं क्लास का NCERT किताबों के संबंधित विषयों का पूरा सिलेबस होता है. नीट के पेपर में निगेटिव मार्किंग होती है. हर सही जवाब के लिए +4 नंबर दिए जाते हैं. हर गलत जवाब के लिए 1 नंबर काटा जाता है. जो सवाल अटेंप्ट न किए जाएं, उनके लिए कोई नंबर नहीं काटे जाते. नीट 2019 में 15 लाख कैंडिडेट्स उपस्थित हुए थे. ये एग्जाम 5 मई को आयोजित किया गया था.

Top Stories