पासपोर्ट मामले में नया मोड़, आरएसएस और शिवसेना अधिकारी के समर्थन में आगे आए

पासपोर्ट मामले में नया मोड़, आरएसएस और शिवसेना अधिकारी के समर्थन में आगे आए

लखनऊ: एक अंतरजातीय जोड़े को पासपोर्ट इशु करने के दौरान हुए विवाद में अब नया मोड़ आ गया है। भगवा राजनीतिक व सामाजिक संगठनों के साथ साथ कुछ अहम हस्तियों के माध्यम से मामले को साम्प्रदायिक रंग देने की कोशिशें तेज़ हो गई हैं।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

एक ओर आरएसएस प्रवक्ता ने इस मामले में ‘विलेन’ बना दिए गए पासपोर्ट अधिकारी के लिए न्याय की मांग किया है तो दूसरी ओर शिवसेना ने उन्हें सम्मानित करने का फैसला किया है। इतना ही नहीं, शिवसेना अधिकारी का ट्रांसफर रद्द करने की मांग करते हुए यह चेतावनी भी दिया है कि वह इसके लिए आन्दोलन करेगी।

इधर सोशल मीडिया में भी एक ओर से जंग छिड़ गई है। उक्त ऑफीसर के पक्ष में एक अभियान चलाई जा रही है तो वहीं कुछ अहम हस्तियों ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज की जल्दबाजी पर सवाल उठाते हुए पूरे मामले की जाँच कराने की मांग किया है।

इस दौरान जुमा को अधिकारी और आवेदनकर्ता जोड़े ने चुप्पी साध लिया और वह मीडिया में कुछ भी बोलने से गुरेज़ कर रहा है। आरएसएस प्रवक्ता राजीवतेली ने ट्विट करते हुए सुषमा स्वराज को कटघरे में खड़ा किया है। उन्होंने कडवे लहजे में लिखा है कि विकास मिश्रा को इंसाफ मिलना चाहिए। विक्टिम कार्ड और ऊपर तक पहुंच से अलग भी एक दुनिया है। सुषमा स्वराज आप कानून से उपर नहीं हैं।

Top Stories