Saturday , September 22 2018

कासगंज दंगा: मुसलमानों के खिलाफ एकतरफा कार्रवाई पर इमाम बुखारी ने जताया एतराज़

नई दिल्ली: शाही इमाम मौलाना सैयद अहमद बुखारी ने कासगंज दंगे पर चिंता व्यक्त करते हुए आरोप लगाया है कि मूल दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने के बजाय दंगे की जिम्मेदारी मुसलमानों पर डाली जा रही है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

इमाम बुखारी ने आज यहां जारी एक बयान में यह दावा किया है कि जिस रास्ते से गुजरने की मुसलमानों ने गणतंत्र दिवस कार्यक्रम की पुलिस से अनुमति ली थी उसी रास्ते से गुजरने की एबीवीपी और विहिप के कार्यकर्ताओं ने तिरंगा यात्रा की कोई अनुमति नहीं थी।

उन्होंने कहा कि इस आरोप का भी कोई सबूत नहीं पेश किया गया कि यात्रा के लोगों ने वंदे मातरम का नारा लगाया तो मुसलमानों ने पाकिस्तान जिंदाबाद का नारा लगाया। इस आरोप का कोई वीडियो अभी तक क्यों नहीं आया है, इमाम बुखारी ने यह भी दावा किया कि प्रशासन के पास कोई सबूत नहीं है। शाही इमाम ने दावा किया है कि मुसलमानों से ज़ब्द्स्ती वन्देमातरम का नारा लगाने की कोशिश की गई जिसका समाचार चैनलों ने भी स्वीकार किया है।

उन्होंने बरेली के डीएम के बयान के संदर्भ में कहा कि अब तो कुछ पुलिस अधिकारी भी सच्चाई से काम करना शुरू कर दिया है। इमाम बुखारी ने कहा कि उसके बावजूद मुसलमानों पर दंगा भडकाने का आरोप लगाकर उनकी जायदाद को नुकसान पहुँचाने की घटना पेश हो रहे हैं। मुसलमानों के घरों की बिजली कटौती की गई, पानी बंद हो गया और उनके खिलाफ ही कार्रवाई की जा रही है।

TOPPOPULARRECENT