Thursday , December 14 2017

मदरसों में विडियोग्राफी पर ओवैसी का बयान, कहा- 70 साल बाद भी मुसलमानों को वफ़ादार नहीं समझा जा रहा

ऑल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुसलमीन (एआईएमआईएम) के नेता और सांसद असद उद्दीन ओवैसी ने कहा है कि यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण बात है कि आजादी के 70 साल बाद भी सरकारों को मुसलमानों पर विश्वास नहीं है। उत्तर प्रदेश सरकार का 15 अगस्त को राज्य के सभी मदरसों में झंडा फहराने के वीडियोग्राफी करने के आदेश पर ओवैसी ने ट्विटर पर कड़ी प्रतिक्रिया जताई है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

आपको बता दें कि राज्य मदरसा बोर्ड के रजिस्ट्रार राहुल गुप्ता की ओर से भेजे गए पत्र में कहा गया है कि सुबह आठ बजे झंडा फहराया जाए और राष्ट्रीय गीत गाया जाए, सुबह आठ बजकर 10 मिनट पर शहीदों को श्रद्धांजलि दी जाए, उसके बाद सांस्कृतिक कार्यक्रम किए जाएँ।

ओवैसी ने इस हुक्मनामे पर अपने ट्वीट में लिखा कि उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से मदरसों पर इस तरह के आदेश से यह साफ संदेश मिलता है कि 70 साल बाद भी मुसलमान देश के लिए वफादार नहीं हैं। यह बिल्कुल झूठ है। दुखद है।

उन्होंने इस मामले में एक के बाद एक कई ट्वीट किए। उन्होंने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री कार्यालय से अपनी खिताबी ट्वीट में लिखा कि बराए मेहरबानी याद करें, शायद आप भूल गए हैं …. 1857 के स्वतंत्रता क्रांति कि शुरूआत मदरसे के आलिमों के फतवों से हुआ था। अब हम संदिग्ध हैं।

TOPPOPULARRECENT