योगी सरकार को सुप्रीम कोर्ट की फटकार, कहा- दुनिया में ताज महल एक ही है, दोबारा नहीं बनेगा

योगी सरकार को सुप्रीम कोर्ट की फटकार, कहा- दुनिया में ताज महल एक ही है, दोबारा नहीं बनेगा
Click for full image

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने यूपी की योगी सरकार को फटकार लगते हुए ताज महल के इर्द गिर्द मल्टी लेवल पार्किंग बनाने की अनुमति देने से इंकार कर दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को एक याचिका पर सुनवाई के दौरान कहा कि “ताज महल एक ही है, यह एक बार बर्बाद हो गया तो फिर दोबारा नहीं बनेगा”।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

सुप्रीम कोर्ट ने ताजमहल और इसके आसपास के इलाकों में ताज ट्रैपोजियम जोन की सुरक्षा के लिए उत्तर प्रदेश सरकार की इस योजना पर नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि ताज महल के 500 मीटर के दायरे में गाड़ियों के चलने की पाबंदी जारी रहेगी।

वहीँ यूपी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से ताजमहल के सुरक्षित क्षेत्रों में बहु-स्तरीय पार्किंग बनाने के लिए 11 पेड़ों को काटने के लिए अनुमति मांगी है। सुप्रीम कोर्ट ने यूपी सरकार से कहा कि आगरा में प्रदूषण उच्च स्तर पर है, ऐसे में यूपी सरकार को इस तरह के निर्माण कार्य करने की अनुमति नहीं दी जा सकती है। कोर्ट ने यूपी सरकार से कहा कि वैसे भी ताजमहल की रक्षा के लिए आपके पास कोई दीर्घकालिक योजना नहीं है।

बता दें कि यूपी सरकार ताजमहल के पूर्वी द्वार से 1 किमी दूर एक बहुस्तरीय पार्किंग बनाना चाहती है। सरकार ने तर्क दिया है कि पार्किंग की कमी के कारण यातायात की एक बड़ी समस्या है। जिस पर अदालत ने कहा कि अगर आप चाहें तो आप इसका बंदोबस्त कर सकते हैं, केवल इच्छाशक्ति की आवश्यकता है।

Top Stories