Monday , December 18 2017

रोहिंग्या मुस्लिमों के समर्थन में ब्रिटेन संघ ने आंग सान सू के पुरस्कार को निलंबित किया

द गार्डियन की एक रिपोर्ट के मुताबिक, ब्रिटेन के सबसे बड़े ट्रेड यूनियनों में से एक ने आंग सान सू की को पुरस्कार को निलंबित कर दिया है। क्योंकि म्यांमार शरणार्थी संकट पर अंतराष्टीय रोहिग्या मामले में पुरे विश्व में आलोचना का शिकार हुई हैं।

देश के दूसरे सबसे बड़े ट्रेड यूनियन, कई ब्रिटिश संस्थानों का मानना ​​है कि वे म्यांमार के दमनकारी सैन्य कट्टरता के तहत लोकतंत्र के लिए अपनी अभियान के दौरान आंग सान सू सम्मान की समीक्षा के बाद ही हटा रहे हैं।

मार्गरेट मैककी, यूनिसन के अध्यक्ष ने द गार्डियन से कहा कि “म्यांमार के रोहिंग्या की स्तिथि बहुत ही भयावह है। साथ ही उन्होंने कहा ऑंग सान सु की यूनिसन की सदस्यता को निलंबित कर दिया गया है। हम आशा करते हैं कि वह अंतरराष्ट्रीय दबाव का जवाब भी देंगी।”

इसके साथ ही लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स स्टूडेंट यूनियन ने कहा है कि वह अपने मानद अध्यक्ष पद के पूर्व राजनीतिक से अलग कर देंगे। वही इस मामले में यूनियन के महासचिव महातिर पाशा ने कहा, “हम आंग सान सू की की मानद अध्यक्षता को सक्रिय रूप से अपने मौजूदा स्थिति और नरसंहार के विरोध में निष्क्रियता के प्रतीक के रूप में निकाल देंगे।”

बताते चले की पिछले 3 दशकों में, ऑग सान सु की कई ग्लासगो, स्नान और कैम्ब्रिज सहित कई यूके विश्वविद्यालयों से मानद डिग्री से सम्मानित किया गया है।

TOPPOPULARRECENT