Saturday , December 16 2017

इस्लामिक स्कालर मौलाना मोहम्मद इलियास सल्फी के जनाज़े में उमड़ा जन सैलाब

नई दिल्ली: प्रसिद्ध धार्मिक ज्ञान निवास जामिया इस्लामिया सनाबिल, दिल्ली के वरिष्ठ शिक्षक मौलाना मोहम्मद इलियास सल्फ़ी 17 दिनों तक बीमारी से ग्रस्त रहकर 5 नवंबर 2017 को सुबह 7:05 बजे लोकनायक अस्पताल दिल्ली में अंतिम सांस ली।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

अबुल कलाम आजाद इस्लामिक अवेकिंग सेंटर के प्रमुख मौलाना मोहम्मद रहमानी ने उनकी नमाज़े जनाज़ा जामिया इस्लामिया सनाबिल के ईदगाह में पढ़ाई, जनाज़े की नमाज़ में सैंकड़ों आलिमे दीन और इस्लामिक संगठनों के प्रमुख समेत हजारों लोग शामिल हुए। उन्हें अबुल फज़ल एन्क्लेव के नए कब्रिस्तान में दफनाया गया।

उल्लेखनीय है मौलाना लगभग तेरह दिनों तक अलशिफा अस्पताल में आईसीयू में थे, उसके बाद उनको लोक नायक अस्पताल ले जाया गया था। शुगर अधिक होने की वजह से लकवे का असर हो गया था, वह लगातार कोमा की हालत में थे और सत्रह दिनों तक मौत और जीवन से जूझते हुए आखिर कार उनकी मृत्यु हो गयी।

TOPPOPULARRECENT