NHRC में पहली बार किसी राजनेता पर बवाल, बीजेपी के उपाध्यक्ष बनेंगे सदस्य

NHRC में पहली बार किसी राजनेता पर बवाल, बीजेपी के उपाध्यक्ष बनेंगे सदस्य
Click for full image

नई दिल्ली। केंद्र सरकार राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग में पहली बार किसी राजनेता की एंट्री कराने जा रही है। खबर है कि पहली बार किसी राजनेता को राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग में पद दिया जाएगा, जो कि दो सला से खाली है।

‘इंडियन एक्सप्रेस’ की खबर के मुताबिक बीजेपी के उपाध्यक्ष अविनाश राय खन्ना की अगले कुछ दिनों में राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के सदस्य के रूप में नियुक्ति हो सकती है। खन्ना जम्मू कश्मीर में पार्टी के इंचार्ज भी हैं और वह इस साल के अप्रैल तक राज्य सभा सदस्य भी रहे हैं।
राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग का अध्यक्ष सदस्य एक उच्च स्तरीय कमेटी द्वारा चुना जाता है, जिसके अध्यक्ष प्रधानमंत्री होते हैं। इसमें लोकसभा स्पीकर, केंद्रीय गृहमंत्री, लोकसभा में विपक्ष के नेता, राज्यसभा के विपक्ष के नेता और राज्यसभा के उपसभापति शामिल होते हैं। बताया जाता है कि पिछले महीने बैठक हुई थी। मीटिंग में अविनाश के अलावा कुछ और नामों पर चर्चा की गई थी लेकिन उनमें से अविनाश का नाम फाइनल किया गया। अविनाश राय का नाम बिना किसी विरोध के फाइनल हुआ।

संविधान के मुताबिक कोई भी पूर्व चीफ जस्टिस आयोग का चेयरपर्सन चुना जा सकता है। इसमें चार फुल टाइम मेंबर होते हैं। इसमें सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज, हाई कोर्ट के पूर्व चीफ जस्टिस के अलावा दो और सदस्य शामिल होते हैं, जिन्हें मानव अधिकार से संबंधित ज्ञान होना चाहिए। आयोग के एक पूर्व सदस्य ने खन्ना की नियुक्ति का विरोध किया है। उन्होंने कहा है कि किसी राजनेता के इसमें शामिल होने पर रोक नहीं है, ये सवालों के घेरे में है. इससे गलत संदेश जाता है।

Top Stories