बेटे का शव कंधे पर उठाने पर राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग सख़्त, यूपी सरकार भेजा नोटिस

बेटे का शव कंधे पर उठाने पर राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग सख़्त, यूपी सरकार भेजा नोटिस
Click for full image

लखनऊ: राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने इटावा के सरकारी अस्पताल से ऐंबुलेंस न मिलने पर एक पिता को बेटे का शव कंधे पर लादकर ले जाने के मामले को गंभीरता से लेते हुए यूपी सरकार को नोटिस भेजा है। आयोग ने इस घटना को असंवेदनशील माना है। आयोग के मुताबिक इटावा जिले के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. राजीव यादव ने माना है कि गलती उनकी तरफ से है। उन्होंने आश्वासन दिया है कि दोषी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने आगे यह तर्क भी दिया है कि लड़के को जब अस्पताल ले जाया गया वह ब्रॉड डेड था। उन्होंने कहा कि उस समय अस्पताल में मौजूद डॉक्टर बस दुर्घटना के मामले में व्यस्त थे। इसलिए वह मृत किशोर के पिता से सही बात नहीं कर सके। आयोग ने मुख्य सचिव, उत्तर प्रदेश सरकार को नोटिस जारी किया है। उनसे इस पूरी घटना के बारे में विस्तृत रिपोर्ट चार सप्ताह के अंदर मांगी है।

Top Stories