Friday , April 20 2018

शर्मनाक: योगी राज में फ़िर हुई लापरवाही, अस्पताल ने नहीं दी एंबुलेंस तो कंधे पर ले जाना पड़ा शव

यूपी में कानून व्यवस्था के नाम पर घिरती योगी सरकार अब दूसरे मोर्चों पर भी फेल होती नज़र आ रही है। यहाँ बांदा में प्रशासन की लापरवाही का एक और शर्मनाक मामला सामने आया है।

हुआ कुछ यूँ कि एंबुलेंस न मिलने पर जीआरपी के कांस्टेबल को शव रिक्शा में रखकर ले जाना पड़ा। यह मामला आठ जुलाई का है।

खबर के मुताबिक़, बांदा स्टेशन पर शनिवार शाम को एक शख्स का शव मिला। जिसके बाद सूचना मिलते ही जीआरपी के कांस्टेबल मौके पह पहुंचे। जहां मृतक की पहचान रामश्री के रूप में की गई।

मृतक की उम्र करीब 35 साल थी जोकि घटनास्थल से करीब 15 किलोमीटर दूर महोत्रा गांव का रहने वाला था।

मृतक की पहचान के बाद पुलिस ने इसकी जानकारी सबसे पहले मृतक के परिवार वालों को दी। फिर 108 नंबर पर एंबुलेंस को फोन किया गया, मगर वहां से कोई जवाब नहीं मिला।

बाद में मुक्तिधाम गैर सरकारी संस्था से एंबुलेंस मांगी गई, लेकिन वहां से भी एंबुलेंस मुहैया नहीं कराई गई। जिसके बाद खुद जीआरपी के कांस्टेबल शव को रिक्शे में रखकर पोस्टमॉर्टम के लिए ले गए।

बता दें कि इस तरह का यह कोई पहला मामला नहीं है। इससे पहले भी सूबे में कई घटनाएं सामने आ चुकी हैं जब अस्पताल प्रशासन की तरफ से एंबुलेंस न मिलने पर परिजन शव को कंधे पर ले जाने को मजबूर हुए हैं।

 

TOPPOPULARRECENT