Friday , July 20 2018

अब हिन्दू भी कट्टरपंथ की राह पर चलना शरू कर दिए हैं: जावेद अख्तर

वाराणसी: जाने माने लेखक जावेद अख्तर ने अपने वाराणसी दौड़े के दौरान देश में सब कुछ ठीक न होने की बात कहा है। उनहोंने एक सवाल के जवाब में कहा कि आज कुछ कट्टर हिंदू इस तरह की चीजें करने लगे हैं, जो पहले कुछ कट्टर मुस्लिम किया करते थे, ये अच्छा नहीं है और यह हमारे संस्कृति और परंपरा के खिलाफ है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

खबर के मुताबिक, जावेद अख्तर शुक्रवार को धर्म नगरी वाराणसी में संकट मोचन संगीत समारोह में शामिल होने पहुंचे थे, जहां उन्होंने देश में असहिष्णुता के मुद्दे पर पूछे गए सवाल पर जवाब देते हुए कहा कि देश में अभी सब कुछ ठीक नहीं है, लेकिन चीजों में सुधार हो रहा है और उम्मीद है कि सभी चीजें बहुत जल्दी सुधर जाएंगी।

जब जावेद अख्तर से देश में असहिष्णुता के मुद्दे पर यह पूछा गया कि क्या आपको लगता है, यहां सब कुछ ठीक है? तो उनहोंने कहा कि देखिए ठीक-ठाक तो बहुत कुछ अभी नहीं है। मुझे बहुत सारी ऐसी बातें दिखाई देती हैं जो पहले कभी नहीं देखीं, लेकिन मैं इस बात पर विश्वास रखता हूं कि हर हिंदुस्तानी आम नागरिक है। जो इस देश में कभी एक्सट्रीम नहीं जा सकता है। वह थोड़ा-बहुत इधर-उधर चला जाए, लेकिन वह वापस अपने रूप में आ जाता है। इसलिए मेरा मानना है कि यह सब 4 दिन की बातें हैं, यह गुजर जाएंगी।

जावेद अख्तर ने आगे कहा कि 1975 में जब ‘शोले’ फिल्म बनी तो उसमें धरम जी भगवान शंकर की प्रतिमा के पीछे से बोलते हैं। इसी तरह से संयोग पिक्चर में ओम प्रकाश जी ने कृष्ण सुदामा के चरित्र का पूरा वर्णन गाने के जरिए कर दिया था। यह सब सीन आज नहीं हो सकता है।

ऐसा इसलिए क्योंकि पहले यह सब बातें सिर्फ कट्टर मुस्लिम करते थे। वहीं आज कुछ कट्टर हिंदू इस तरह की चीजें करने लगे हैं, जो अच्छा नहीं है और यह हमारे संस्कृति और परंपरा के खिलाफ है।

TOPPOPULARRECENT